मोदी सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ देश भर में सड़कों पर उतरे बहुजन

0
869

बिहार के भागलपुर में भारत बंद के दौरान सड़क पर उतरे बहुजन

नई दिल्ली/पटना/लखनऊ। 13 प्वाइंट रोस्टर और आदिवासी समाज को उनकी जमीन से बेदखल करने के खिलाफ देश के दलित, आदिवासी और पिछड़े समाज ने आज 5 मार्च को देश भर में व्यापक तौर पर भारत बंद का आयोजन किया है. अपने हक के लिए देश के तमाम हिस्सों में वंचित समाज का जागरुक तबका सड़कों पर है.

बिहार भी सुलग रहा है. राज्य के पटना, नवादा, भागलपुर,बांका, मधुबनी और खगड़िया आदि जिलों में बंद और रेल रोकने की खबर है. तो झारखंड में भी बराबर आग लगी है. राज्य के धनबाद और रांची सहित तमाम जिलों से व्यापक बंद की खबरे हैं.

नवादा, बिहार

तो सत्ता के केंद्र दिल्ली में जंतर मंतर पर भी बहुजन आंदोलनकारी भारी संख्या में जुटे हैं. इसमें 13 प्वाइंट रोस्टर के विरोध सहित आदिवासी समाज के लोग भी बहुत संख्या में हैं, जो सरकार द्वारा जमीन से बेदखली का विरोध कर रहे हैं.

झारखंड

ऐसे ही उत्तर प्रदेश के बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र और शिक्षक गुस्से में हैं. इसके अलावा राजस्थान के जयपुर में भी बंद का खासा असर है.

वाराणसी, बनारस हिन्दू विवि

आंदोलन की यह चिंगारी दक्षिण के राज्यों में भी पहुंच गई है. दक्षिण के कटक और ओडिसा सहित तमाम जगहों पर दलित, आदिवासी और ओबीसी समाज के लोगों ने सड़क पर उतर कर सरकार की दमनकारी नीति के खिलाफ विरोध दर्ज करवा रहे हैं.

कुल मिलाकर वंचित समाज के गुस्से का आलम यह है कि आंदोलन की यह आग सत्ताधारी दल को जलाने के लिए तैयार है. उन्होंने साफ कह दिया है कि जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं कर दिया जाता, आंदोलन जारी रहेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.