गठबंधन की रैली में बोलीं मायावती, भाजपाई बौखलाहट में अपना रहे हर तरह के हथकंडे

बसपा सुप्रीमो मायावती आजमगढ़ की संयुक्त रैली में भाजपा पर जमकर बरसीं. उन्होंने कहा कि भाजपा ने षडयंत्र के तहत ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति पर चलते हुए अखिलेश के खिलाफ प्रत्याशी उतारा है. इसलिए इन्हें ऐसा सबक सिखाना जरूरी है कि फिर कभी कोई चुनाव लड़ने की हिम्मत न कर सके. अब तक हुए पांच चरणों के मतदान में महागठबंधन को जनता का अपार जनसमर्थन मिला है. अगले चरण में परिणाम और भी ज्यादा बेहतर रहने वाले हैं. यह गठबंधन सामाजिक महापरिवर्तन लाने का रिश्ता है जो टिकाऊ और लम्बे समय तक चलेगा.

रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने आजमगढ़ की जनता से सपा प्रत्याशी अखिलेश यादव को ऐतिहासिक मतों से जीत दर्ज कराने की अपील की. उन्होंने कहा कि यहां से अखिलेश यादव नहीं, मैं ही चुनाव लड़ रही हूं. जनसभा में लालगंज से महागठबंधन की प्रत्याशी संगीता आजाद को भी जिताने की अपील की गई.

‘भाजपा के लोग अपना रहे हर तरह के हथकंडे’

भाजपा पर हमलावर होते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा-आरएसएस के लोग जाति, धर्म, आतंकवाद और देशभक्ति के नाम पर कई तरह के हथकंडे अपना रहे हैं. भाजपाई बौखलाहट में हैं और हमारी संस्कृति सभ्यता के हिसाब से संस्कारी रिश्तों पर तंज करते हैं. यह रिश्ता सभ्यता संस्कृति के हिसाब से बना है, जिसका सम्मान करना चाहिए. बहुजन समाज पार्टी-समाजवादी पार्टी का गठबंधन आगे बढ़कर सदियों से उपेक्षा के शिकार लोगों की जिंदगी में परिवर्तन लाने का रिश्ता बना है. बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर का समाज के कमजोर और वंचित लोगों को अपने पैरों पर खड़ा करने में विशेष योगदान रहा है.

‘प्रधानमंत्री नहीं प्रचारमंत्री’

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने इतना प्रचार किया कि जनता उन्हें प्रचारमंत्री समझ रही है. पांच साल में यह भारत के एक प्रतिशत लोगों के हीआ प्रधानमंत्री हैं. प्रधानमंत्री पुराने मुद्दे भूल गये हैं. बनारस में भाजपा के लोग सेना के एक जवान से डर गए. प्रधानमंत्री आतंकवाद हटाने की बात करते हैं, लेकिन पांच साल के कार्यकाल में आतंकवाद रोकने के लिए कोई काम नहीं किया.

उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग एक-दूसरे से झगड़ा लगाते हैं. महागठबंधन एक दूसरे के बीच जो दूरी है उसे खत्म करना चाहता है. हमारी सोच है कि आबादी के हिसाब से सबको हिस्सेदारी मिलनी चाहिए. जबकि भाजपा सरकार आरक्षण छिनने की साजिश कर रही है. संविधान से मिले अधिकारों पर हमला हो रहा है. इनसे सावधान रहने की जरूरत है. आज पूरे देश में भाजपा को महागठबंधन ही रोक रहा है.

‘जनता के नहीं भाजपा नेताओं के आए अच्छे दिन’

राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने कहा कि जनता के अच्छे दिन तो आए नहीं, भाजपा नेताओं के अच्छे दिन आ गए हैं. नौजवानों को दो करोड़ नौकरियां नहीं मिलीं. प्रधानमंत्री झूठ बोलते हैं. वे खुद को चौकीदार कहते हैं, पर वह उन बड़े लोगों के चौकीदार हैं जो बैंकों से धन लूटकर विदेश भाग गए. उनके भाषण के दौरान चौकीदार चोर है, के नारे भी लगे. उन्होंने महागठबंधन के प्रत्याशियों की जीत की अपील की.

Read it also-बहनजी को प्रधानमंत्री बनते देखना चाहता हूं- अखिलेश यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.