जानिए महेंद्र सिंह धोनी के पिस्तौल उठाने की वजह

753

महेंद्र सिंह धोनी ताबड़तोड़ गोलियां दागते दिखे. टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान ने प्रोफेशनल शूटर की तरह हाथों में पिस्तौल थामा और दनादन फायरिंग शुरू कर दी. अब आप सोच रहे होंगे भला धोनी को पिस्तौल क्यों उठानी पड़ी? दरअसल, पूर्व भारतीय कप्तान धोनी टीम इंडिया का अभ्यास सत्र बारिश की भेंट चढ़ने के बाद कोलकाता पुलिस ट्रेनिंग स्कूल का रुख किया और पिस्टल निशानेबाजी में हाथ आजमाए.

कोलकाता पुलिस ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, ‘महान महेंद्र सिंह धोनी ने कुछ समय निकालकर आज दोपहर पुलिस ट्रेनिंग स्कूल की हमारी अत्याधुनिक शूटिंग रेंज में अपने निशानेबाजी कौशल का अभ्यास किया. उनकी सटीकता बेहतरीन थी.’ कोलकाता पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि धोनी ने न सिर्फ रेंज में निशानेबाजी की बल्कि कोलकाता पुलिस कर्मियों से बात करके उनकी हौसलाअफजाई भी की.

धोनी के साथ जाने वाले कोलकाता पुलिस के शीर्ष अधिकारी ने कहा, ‘दूसरी बार धोनी की मेजबानी शानदार रही. वह बेहतरीन निशानेबाज है और उसने हम सभी को प्रेरित किया.’

उन्होंने कहा, ‘पीटीएस की शूटिंग रेंज अत्याधुनिक है और धोनी ने 10 और 25 मीटर दोनों रेंज में निशानेबाजी की.’ इससे पहले धोनी ने 2010 में एक पुरानी मोटरसाइकिल की तलाश में शहर पुलिस के मुख्यालय का दौरा किया था.

भारत पांच मैचों की एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला के दूसरे मैच में कल ईडन गार्डन्स में आस्ट्रेलिया से भिड़ेगा. भारत ने वर्षा से प्रभावित पहले मैच में आस्ट्रेलिया को 26 रन से हराकर श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बना ली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.