लाखों समर्थकों के बीच पूर्व आईपीएस आर.एस. प्रवीण बसपा में शामिल

1
2962

 लाखों समर्थकों की एक शानदार जनसभा के बीच पूर्व आईपीएस अधिकारी आर.एस. प्रवीण कुमार 8 अगस्त को बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। 1995 बैच के आईपीएस अधिकारी प्रवीण कुमार ने हाल ही में रिटायरमेंट ले लिया था, और तभी से उनके राजनीति में जाने की अटकलें लग रही थी। बसपा का दामन थामने के बाद अब यह अटकलें शांत हो गई है। तेलंगाना के नलगोंडा में आयोजित ‘बहुजन राज्याधिकारा संकल्प सभा’ में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में बसपा की सदस्यता ग्रहण करते ही आर.एस. प्रवीण कुमार ने तेलंगाना में बहुजन राज लाने की हुंकार भर दी। उन्होंने कहा कि तेलंगाना में अब कोई भी ताकत बहुजन राज को आने से नहीं रोक सकती।

इस शानदार जनसभा के दौरान पू्र्व आईपीएस अधिकारी की प्रदेश के लोगों के बीच पकड़ भी साफ तौर पर नजर आई। तेलंगाना सोशल वेलफेयर एंड रेजिडेंशियल स्कूल के सेक्रेट्री के रूप में और स्वैरो नाम के संगठन के प्रमुख के रूप में आर. एस. प्रवीण ने अपने शानदार काम से जिस तरह प्रदेश के बहुजन समाज के बीच अपनी जगह बनाई है, वह इस सम्मेलन में साफ तौर पर दिखा। आमतौर पर पार्टी कार्यालय में कुछ बड़े नेताओं के बीच सदस्यता लेने की बजाय आर.एस. प्रवीण ने भारी जनसभा में लाखों समर्थकों के बीच बसपा की सदस्यता लेकर साफ कर दिया है कि वह प्रदेश में बड़ी और मजबूत सियासी पारी के मूड में हैं। इस दौरान उन्होंने अपनी ताकत दिखाकर जहां बसपा प्रमुख मायावती को भी आश्वस्त करने की कोशिश की तो साथ ही अपने राजनीतिक विरोधियों को चेतावनी भी दे डाली।

बतौर राजनेता अपने पहले भाषण में आर.एस. प्रवीण ने कहा कि पिछले 70 सालों से देश की मजबूत जातियों ने बहुजन समाज के साथ छल किया है। उन्होंने तेलंगाना में बहुजन राज लाने के लिए बहुजन समाज से एकजुट होने की अपील की। उन्होंने साफ किया कि बहुजन राज्यम में सभी वर्गों को उनकी जनसंख्या के मुताबिक प्रतिनिधित्व मिलेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ और रोजगार उनका प्रमुख एजेंडा होगा।

आर.एस. प्रवीण के बसपा में शामिल होने के दौरान बसपा अध्यक्ष बहन मायावती ने पार्टी की ओर से बसपा के नेशनल को-आर्डिनेटर रामजी गौतम को भेजा। इस दौरान रामजी गौतम ने घोषणा किया कि आर.एस. प्रवीण बसपा के तेलंगाना स्टेट को-आर्डिनेटर होंगे। तो वहीं आर.एस. प्रवीण ने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता तेलंगाना में बसपा को मजबूत करना होगा। राष्ट्रीय राजनीति में मेरी क्या भूमिका होगी, यह पार्टी तय करेगी। कार्यक्रम में मौजूद समर्थकों से जब उन्होंने पूछा कि वो गुलाम बनना चाहते हैं कि राजा? तो समर्थकों के हुजूम के बीच से जोर से राजा बनने की आवाज आई। साफ है कि आर.एस. प्रवीण बहुजन समाज को तेलंगाना में राजा बनाने के लिए राजनीति में आए हैं। और जिस तरह से उऩ्होंने रेजिडेंशियल स्कूल के लाखों बच्चों को सफलता का मूलमंत्र दिया है, उसी तरह अब वह बहुजन समाज को भरोसा दिला रहे हैं कि मिलकर तेलंगाना में बहुजन राज लाया जा सकता है। निश्चित तौर पर आर.एस. प्रवीण जिस तरह काम करते हैं, ऐसा होना नामुमकिन नहीं है।

सभी फोटो क्रेडिट- राजशेखर

1 COMMENT

  1. लेकिन क्या पता इन्हें भी कुछ दिन बाद पार्टी से बाहर कर दे ।
    क्योंकि बहन जी का पुराना फितरत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.