बागेश्वर धाम वाले धीरेन्द्र शास्त्री के भाई ने दलितों को पिस्तौल दिखाकर धमकाया

655

 हिन्दू धर्म में ऋृषि-मुनियों को श्रद्धा से देखने की परंपरा रही है। लेकिन अब हिन्दू धर्म में ऋृषि-मुनियों की परंपरा को कलियुगी बाबा लगातार दागदार कर रहे हैं। इन दिनों बागेश्वर धाम का धीरेन्द्र शास्त्री चर्चा में है। बागेश्वर धाम वाले धीरेन्द्र शास्त्री का भाई गुंडा निकल गया है। शास्त्री के भाई ने हथियारों के बल पर दलितों को धमकाया है, जिसका वीडियो वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडिया में बागेश्वर धाम वाले शास्त्री के भाई ने एक दलित महिला की शादी में घुसकर वहां मौजूद मेहमानों को पिस्तौल दिखाकर धमकाया।

इस दौरान धीरेन्द्र शास्त्री का भाई सौरभ गर्ग उर्फ शालिगराम शराब के नशे में था। वीडियों में एक हाथ में सिगरेट लिए सौरभ को एक शख्स को गाली देते हुए और उसके सिर पर पिस्तौल ताने हुए देखा गया। पुलिस का कहना है कि सौरभ बागेश्वर धाम के गीतों की बजाय शादी मे बुंदेलखंड के लोकप्रिय राई नृत्य संगीत को बजाने से नाराज था। हद है, अब कोई बाबा और उसका गुंडा भाई यह तय करेगा कि कौन अपनी शादी में किस गीत-संगीत को बजाएगा।

 दरअसल धीरेन्द्र शास्त्री और बागेश्वर धाम पिछले कुछ वक्त से लगातार विवाद में है। 26 साल के धीरेन्द्र शास्त्री पर जमीन के अवैध कब्जे से लेकर लोगों को चमत्कार के नाम पर गुमराह करने के भी आरोप लगते रहे हैं। पिछले दिनों धीरेन्द्र शास्त्री ने महाराष्ट्र के महान संत तुकाराम को लेकर भी विवादित बयान दिया था।

 बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक धीरेंद्र शास्त्री के साथ स्कूल में पढ़ चुके एक व्यक्ति ने बीबीसी को बताया था कि, ”स्कूल में धीरेंद्र पढ़ाई में बहुत ख़ास नहीं था। कहता था कि बड़े होकर धंधा करना है। फिर पता नहीं कहाँ, एक साल के लिए ग़ायब हो गया था। लौटा तो अलग ही था। धीरे-धीरे विधायकों, बाहुबलियों का आना शुरू हुआ। ये बना तो कांग्रेस नेताओं के कारण है पर आज जो हो रहा है, उसमें भाजपा का रोल है। वरना पाँच साल पहले तक साइकिल, मोटर-साइकिल से घूमा करता था।”

बीबीसी की इसी रिपोर्ट में चंदला के पूर्व विधायक आरडी प्रजापति ने भी शास्त्री पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि- ”गढ़ा में जो सरकारी ज़मीन थी, उस पर धीरेंद्र शास्त्री ने अपना निर्माण करवा लिया।” धीरेंद्र शास्त्री पर ज़मीन हड़पने के आरोप कुछ स्थानीय लोगों ने भी लगाया था और धरना भी दिया था, लेकिन इसपर कोई खास कार्रवाई नहीं हुई।

आम जनता में इन जैसे लोगों को चमत्कारिक संत मान लेने की जो जल्दी होती है, वह चिंता की बात है। ऐसे में जिस तरह धीरेन्द्र शास्त्री के भाई का दलित समाज की बेटी की शादी में सिगरेट पीते हुए और हाथ में पिस्तौल लहराते हुए धमकाने का वीडियो सामने आया है, उससे साफ है कि बागेश्वर धाम की इमारत के नीचे काफी सच दबा है। धीरेन्द्र शास्त्री के भाई को लेकर पुलिस-प्रशासन की चुप्पी समझ से परे हैं। दलित संगठन परिवार को धमकाने के लिए सौरभ गर्ग पर एससी-एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज करने की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.