जातिवादियों ने दलित किशोर की हत्या कर नहर के पास शव फेंका

भोजपुर। बिहार के भोजपुर जिले में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. घटना भोजपुर जिले के धनगाई थाना क्षेत्र के दीघा गांव की है. जहां एक 14 वर्षीय किशोर को मजाक और चिढ़ाने को लेकर लात-घूसे से जातिवादी किशोरों ने पिटाई कर हत्या कर दी. दलित किशोर युवक का शव गांव के नहर के पास पड़ा मिला.

जानकारी के मुताबिक यह घटना शुक्रवार (25 अगस्त) की है. मृत किशोर का नाम रोहित कुमार था और वह गांव के गणेश गोंड का बेटा है. हत्या के पीछे मजाक और चिढ़ाने की बात सामने आ रही है.

दलित किशोर का शव मिलते ही ग्रामीणों का गुस्सा पूरी तरह भड़क उठा. ग्रामीणों ने आपस में सलाह मशविरा कर युवक के शव के साथ जगदीशपुर थाना क्षेत्र के बिहिया-जगदीशपुर मार्ग को जाम कर दिया. ग्रामीण के साथ किशोर के परिजन दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. बाद में सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझा-बूझाकर जाम हटवाया. बाद में पुलिस के प्रयास से युवक के शव का पोस्टमार्टम हो सका.

रोहित नजदीक के चकवा गांव के उत्क्रमित मिडिल स्कूल में 7 वीं कक्षा में पढ़ता था. वह पढ़ने में काफी तेज था. परिवार को उससे काफी उम्मीदें थीं. मृत दलित किशोर के चाचा सनोज कुमार ने गांव के सवर्णों श्रीभगवान यादव के बेटे समरेश कुमार और अमरेश कुमार, रामजी यादव के पुत्र रजनीश कुमार, शिवबचन सिंह के पुत्र विजय कुमार और रामजी सिंह पर प्राथमिकी दर्ज कराई है. प्राथमिकी दर्ज होने के बाद सभी आरोपी फरार हैं.

जानकारी के मुताबिक गांव के ही उच्च जाति के लोगों की ने दलित किशोर की हत्या की है. वे लोग गांव के दलितों को जानवर से भी गया गुजरा समझते हैं. रोहित का परिवार भी इसी जातिवादी मानसिकता से काफी परेशान था. घटना के बाद गांव के दलितों में दहशत है. हालांकि पुलिस पूरे मामले की जांच करने की बात कह रही है.

ग्रामीणों ने बताया कि रोहित जिन लड़कों के साथ रोजाना खेलता था, उन्हीं लड़कों ने उसे मार डाला है. बताया जा रहा है कि सवर्णों के लड़के रोहित को रोज चिढ़ाते थे. जिससे वह गुस्से में आकर गांव के रसूखदारों के बच्चों से उलझ गया. गुरुवार को रोहित ने चिढ़ाने वाले लड़कों को जवाब दे दिया, उसके बाद वह गुस्से में आ गये और शुक्रवार को जैसे ही वह शौच करने निकला, उनलोगों ने उसे पीटकर मार डाला.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.