बिहार के बदली सियासत में किसे सबसे ज्यादा फायदा? सर्वे में चौंकाने वाला खुलासा

112

 भारतीय जनता पार्टी से लगभग डेढ़ साल के याराने के बाद नीतीश कुमार ने भाजपा का हाथ झटक कर फिर से राजद का हाथ थाम लिया है। इसके बाद सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि बिहार में हुए इस सियासी उठा पटक का सबसे ज्यादा फायदा किसे मिलेगा?

बिहार के बदले सियासी हालात को लेकर सी वोटर ने एक टीवी चैनल के लिए बिहार की जनता के बीच जाकर सर्वे किया है। इस सर्वे में बदले सियासी हालात का सबसे ज्यादा फायदा तेजस्वी यादव को बताया जा रहा है। जनता से जब पूछा गया कि बिहार में गठबंधन टूटने का फायदा किसको होगा? इस सवाल पर 33 फीसदी लोगों ने बीजेपी का नाम लिया तो वहीं, महज 20 फीसदी लोगों ने नीतीश कुमार को फायदा पहुंचने की बात कही। सबसे ज्यादा 47 फीसदी लोगों ने कहा कि इसका लाभ तेजस्वी यादव को मिलेगा।

बीजेपी और जदयू में आई खटास की वजह पूछे जाने पर 28 फीसदी लोगों ने जेडीयू की ओर से उपराष्ट्रपति नहीं बनाने का कारण बताया। तो इतने ही प्रतिशत लोगों का कहना था कि भाजपा द्वारा आरसीपी सिंह को प्रमोट किए जाने की बाद से नीतीश कुमार नाराज थे। वहीं, 30 फीसदी लोगों ने कहा कि बिहार में मंत्रियों के बीच मतभेद के कारण बीजेपी-जेडीयू गठबंधन टूटा।

 हालांकि एक बार फिर से नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री और तेजस्वी यादव ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है, लेकिन सर्वे में जब पूछा गया कि नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव में से किसे मुख्यमंत्री बनना चाहिए तो करीब 56% लोगों ने तेजस्वी यादव के नाम पर मुहर लगाई। वहीं, 44 फीसदी लोगों ने नीतीश कुमार का नाम लिया।

बता दें कि यह सर्वे एबीपी न्यूज के लिए सी-वोटर ने किया था। इसमें बिहार के 1 हजार 415 लोगों की राय पूछी गई। कुल मिलाकर साफ है कि बिहार की सियासत में तेजस्वी यादव नंबर वन बनने की राह पर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.