इस्तीफा देकर राजनीति में उतरे ‘जज साहब’, कर दिया बड़ा ऐलान

896

 लगता है राजनीति समाज को बदलने का आखिरी रास्ता बनती जा रही है। शायद यही वजह है कि समाज बदलने की चाहत लिये अलग-अलग क्षेत्रों के लोग अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़कर राजनीति में उतर रहे हैं। नई जानकारी उत्तर प्रदेश से आ रही है, जहां बहुजन समाज से ताल्लुक रखने वाले मनोज कुमार ने जज की प्रतिष्ठित नौकरी छोड़ कर राजनीति में आने का अपना इरादा जाहिर कर दिया है।

नोएडा सहित तमाम सिविल कोर्ट और एक वक्त में सीबीई के जज रहे मनोज कुमार फिलहाल बिजनौर में पूर्व अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश थे। यहीं से इस्तीफा देकर वह अब राजनीतिक पारी शुरू करने जा रहे हैं। मनोज कुमार ने 17 दिसंबर को एक बड़े कार्यक्रम का ऐलान किया है, जहां बहुजन समाज के तमाम बुद्धिजीवि और दिग्गज मनोज कुमार को समर्थन देने बिजनौर पहुंच रहे हैं।

इसमें पूर्व न्यायाधीश के.जी. बाला कृष्णन सहित पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक, किसान नेता राकेश टिकैत, राजरत्न अंबेडकर, पूर्व सांसद राजकुमार सैनी और दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री और एक्टिविस्ट राजेन्द्र पाल गौतम विशेष तौर पर मौजूद रहेंगे। इस कार्यक्रम को बहुजन मैत्री एवं संविधान जागरूकता महासम्मेलन का नाम दिया गया है। कार्यक्रम बिजनौर जिले के धामपुर के के.एम. इंटर कॉलेज में होगा। कार्यक्रम को 50 से ज्यादा बहुजन समाज के संगठनों ने भी अपना समर्थन दिया है।

दरअसल एक जज का राजनीति में आना एक बड़ा संकेत है। बहुजन समाज से होने के कारण मनोज कुमार के राजनीति में आने को लेकर समाज के लोग काफी उत्साहित हैं। फिलहाल जज साहब ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं, लेकिन चर्चा है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ सकते हैं। 17 दिसंबर को जब पूर्व जज मनोज कुमार राजनीति की अपनी पारी का ऐलान करेंगे, देखना होगा कि वह क्या ऐलान करते हैं। नजर इस पर भी रहेगी कि आखिर न्यायपालिका जैसे प्रतिष्ठित संस्थान में जज की नौकरी छोड़कर आखिर वह राजनीति में क्यो आए?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.