कौन नहीं चाहता कासगंज में सब सामान्य हो जाए

कासगंज। सांप्रदायिक हिंसा की आग में झुलस रहे उत्तर प्रदेश के कासगंज में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो ही रही थी, लेकिन सोमवार 5 फरवरी को एक बार फिर से माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की गई.

ताजा रिपोर्ट के मुताबिक आज यहां गंजडुंडवारा कस्बे में एक धार्मिक स्थल का दरवाजे जला मिला, जिसके बाद भीड़ इकट्ठी हो गई. जानकारी के मुताबिक, सुबह पांच बजे गंजडूंडवारा कस्बे में स्थित धार्मिक स्थल के लकड़ी के दरवाजे में आग लगने की खबर मिली. आनन-फानन में पुहंची पुलिस ने आग को बुझाया. घटना की सूचना मिलते ही डीएम, एसपी और कई बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया. घटना के बाद इलाके में ऐहतियात के तौर पर अतिरिक्त सुरक्षाबल की तैनाती कर दी गई है.

बता दें कि कासगंज में गणतंत्र दिवस के दिन तिरंगा यात्रा निकालने को लेकर हुए विवाद के बाद हिंसा में चंदन गुप्ता नाम के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद वहां के हालात बिगड़ते चले गए. हर दूसरे दिन जैसे ही लग रहा है कि स्थिति सामान्य है, वहां कुछ न कुछ घटित हो जा रहा है. सवाल है कि आखिर वो कौन लोग हैं जो नहीं चाहते कि कासगंज में हालात बिगड़े.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here