राहुल गांधी ने संभाली कांग्रेस-बसपा गठबंधन पर चर्चा की कमान

0
1491

नई दिल्ली। राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में गंठबंधन को लेकर खिंचतान मची है. कर्नाटक विधानसभा चुनाव में संयुक्त विपक्ष के साथ आने के बाद हुई भाजपा की हार के बाद माना जा रहा था कि आगामी विधानसभा चुनावों में भी विपक्षी दलों के बीच गठबंधन आराम से हो जाएगा. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. विपक्षी दल भाजपा को हराने पर तो एकमत हैं लेकिन सीटों के गणित ने गठबंधन की राह को मुश्किल बना दिया है.

कयास थे कि राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी बसपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी. दोनों के वोट प्रतिशत को देखकर यह तय माना जा रहा था कि दोनों के साथ आने की स्थिति में भाजपा को आराम से सत्ता से बाहर किया जा सकता है. लेकिन पहले मध्यप्रदेश में बहुजन समाज पार्टी के प्रभारी द्वारा कांग्रेस से विपक्ष की संभावनाओं को खारिज करने और बाद में छत्तीसढ़ के दिग्गज नेता अजीत जोगी और बसपा प्रमुख मायावती की मुलाकात ने कांग्रेस की बेचैनी बढ़ा दी है.

खबर यह आ रही है कि कांग्रेस पार्टी बसपा को सम्मानजनक सीट देने में आनाकानी कर रही है, जिसके बाद बसपा दूसरी संभावना टटोल रही है. अब बसपा को छिटकते देख कांग्रेस पार्टी एक बार फिर हरकत में आ गई है. राज्य के नेताओं से बात नहीं बनने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब खुद कमान संभाल ली है. 14 जुलाई को राहुल गांधी ने राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के अपने प्रभारियों को दिल्ली तलब किया है, जिसमें वह स्थिति की समीक्षा करेंगे.

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी इस बैठक में बसपा के साथ गठबंधन की संभावना को फिर से टटोलेंगे. खबर यह भी है कि राहुल तीनों राज्यों में बीएसपी से अलग-अलग गठबंधन की बजाय एक साथ पैकेज डील के मूड में हैं. वह बसपा को एक ही साथ ऐसा फार्मूला देना चाहते हैं, जिस पर बसपा राजी हो जाए. राहुल गांधी के आदेश पर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता बीएसपी नेतृत्व के संपर्क में हैं.

दरअसल बसपा सुप्रीमो मायावती की अजीत जोगी से मुलाकात के बाद कांग्रेस की बेचैनी तब साफ दिखी थी जब मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने सफ़ाई दी कि मायावती से बातचीत टूटी नहीं है और सीटों के बंटवारे को लेकर अभी भी बातचीत जारी है. उम्मीद है कि आने वाले हफ्ते में कांग्रेस और बसपा के बीच गठबंधन की उम्मीद पर अंतिम मुहर लग जाएगी.

इसे भी पढ़े-मायावती के आदेश के बाद BSP नेताओं में खलबली

  • दलित-बहुजन मीडिया को मजबूत करने के लिए और हमें आर्थिक सहयोग करने के लिये दिए गए लिंक पर क्लिक करें https://yt.orcsnet.com/#dalit-dastak 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.