राहुल ने ली पीएम मोदी की झप्पी, सरकार पर जमकर बरसें

नई दिल्ली। लोकसभा में उस समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सकपका गए जब राहुल गांधी ने उन्हें झप्पी ले ली. अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अचानक पीएम मोदी के पास पहुंच गए और उन्हें गले लगा लिया. इस दौरान एक बार मोदी को कुछ समझ में नहीं आया लेकिन जब मोदी संभले तो उन्होंने राहुल गांधी से हाथ मिलाया. इससे पहले राहुल गांधी ने तमाम बातों को लेकर पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा.

उन्होंने 15 लाख रुपये, युवाओं को रोजगार से लेकर राफेल सौदे को लेकर सरकार पर तमाम सवाल उठाएं. तो वहीं अमित शाह की संपत्ति बढ़ने पर पीएम मोदी की चुप्पी पर भी उन्हें घेरा. कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की असफलताओं को गिनाते हुए कहा की ये सरकार झूठ बोल रही है. रोजगार के मुद्दे पर सवाल उठाते हुए राहुल गांधी ने कहा, “मोदी जी जहां भी जाते हैं रोज़गार की बात करते हैं. कभी कहते हैं पकौड़े बनाओ कभी कहते हैं दुकान खोलो. रोज़गार कौन लायेगा? हिन्दुस्तान के युवाओं ने प्रधानमंत्री जी पर भरोसा किया था. अपने भाषण में प्रधानमंत्री जी ने कहा था हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोज़गार दूंगा.”

अमित शाह के बेटे की संपत्ति के आश्चर्यजनक ढंग से कई गुणा बढ़ने पर राहुल ने मोदी पर तंज कसते हुए कहा, ”प्रधानमंत्री जी ने कहा था मैं देश का चौकीदार हूं, देश की चौकीदारी करुंगा. लेकिन वो चौकीदार नहीं भागीदार है. जब प्रधानमंत्री के मित्र के पुत्र 16000 गुना अपनी आमदनी बढ़ाते हैं तो प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द नहीं निकलता” इस दौरान राहुल गांधी ने किसानों का भी मुद्दा उठाया.

राफेल सौदे पर सरकार को घेरते हुए राहुल गांधी ने कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने मुझे बताया कि दोनों देशों के बीच राफेल को लेकर कोई सीक्रेट डील नहीं है. राफेल डील को लेकर रक्षा मंत्री ने देश से झूठ बोला. राफेल हवाई जहाज का दाम 520 करोड़ रुपये प्रति हवाई जहाज था. प्रधानमंत्री जी फ्रांस गए, जादू से यह दाम 1600 करोड़ रुपये प्रति हवाई जहाज हो गया.

अपने भाषण के दौरान राहुल गांधी के निशाने पर लगातार पीएम मोदी रहे. राहुल गांधी ने कई बार मोदी पर सीधा हमला बोला. पीएम को घेरते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ”पूरे देश ने अभी देखा है कि मैंने प्रधानमंत्री के बारे में साफ-साफ बोला है और प्रधानमंत्री मुझसे नज़र नहीं मिला रहे हैं. ये सच्चाई है; ‘चौकीदार नहीं, भागीदार है’ देश को ये बात समझ में आ गयी है.”

एचएएल का मुद्दा उठाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री को इस बात का जवाब देना चाहिए कि एचएएल से ये सौदा क्यों छीना गया और ऐसी कंपनी को क्यों दिया गया जिस पर 35 हजार करोड़ रुपये का कर्ज़ है और उसने जीवन में कभी हवाई जहाज नहीं बनाया. किसानों के मुद्दे पर राहुल गांधी ने कहा कि किसान कहता है प्रधानमंत्री जी आपने हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का ढाई लाख करोड़ का कर्जा माफ किया हमारा भी थोड़ा कर्ज माफ कीजिए. लेकिन वित्त मंत्री कहते हैं नहीं किसानों का कर्जा माफ नहीं होगा.

Read it also-नई कांग्रेस कार्य समिति से इन दिग्गजों की हुई छुट्टी, ये नए चेहरे शामिल

  • दलित-बहुजन मीडिया को मजबूत करने के लिए और हमें आर्थिक सहयोग करने के लिये दिए गए लिंक पर क्लिक करेंhttps://yt.orcsnet.com/#dalit-dastak 

 

1 COMMENT

Leave a Reply to Rahul Bouddh Cancel reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.