लश्‍कर-ए-तैयबा की ऑनलाइन मैग्जीन, तबाही का संदेश

0
248

नई दिल्ली। पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्‍कर-ए-तैयबा ने ऑनलाइन मैग्जीन जारी की है. इसके द्वारा लश्‍कर-ए-तैयबा ने कश्मीर में तबाही का संदेश दिया है. लश्कर ने कहा है कि साल 2018 कश्मीर घाटी में भारतीय सुरक्षाबलों के लिए मुश्किल होने वाला है. इसके लिए हमारे साथी काम कर रहे हैं. हम लोगो कश्मीर की आजादी की लड़ाई में पूरा सहयोग करेंगे. इस तरह की बातों को लेकर लश्‍कर-ए-तैयबा ने खौफनाक संदेश दिया है.

कश्मीर में ‘आम आदमी के संघर्ष’ में मदद…

लश्‍कर की इस मैग्जीन का नाम “Wyeth” है. इसमें लश्कर के प्रवक्‍ता अब्‍दुल्‍ला गजनवी ने इंटरव्‍यू देकर अपनी दिली तमन्ना जाहिर की है. इसके अलावा मैग्जीन में उन आतंकी हमलों की एक लिस्‍ट भी दी गई है जो साल 2017 में इसे कैडर्स की ओर से अंजाम दिए गए. मैग्जीन में कहा गया है कि कश्मीर में वह ‘आम आदमी के संघर्ष’ में मदद कर रहा है.

गजनवी ने इंटरव्यू में इस सवाल का भी जवाब दिया है कि क्‍या लश्‍कर, पाकिस्‍तान सेना का ही अंग है? कश्‍मीर में आजादी के अधूरे एजेंडे को पूरा करने के लिए संघर्ष को नैतिक और कानूनी तौर पर समर्थन देना पाकिस्‍तान की मजबूरी है.  गजनवी ने कहा कि अब तक लश्‍कर की ओर से कुरान और हादिथ पर आधारित साहित्‍य को वितरित किया जाता रहा है.

हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक, आईबी के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर अरुण चौधरी ने कहा, लश्कर हमेशा से टेक सेवी रहा है. वह सोशल मीडिया के माध्यम से स्थानीय लड़कों को उग्रवाद की ओर धकेलने में लगा रहता है. घाटी तक पहुंचने के लिए ऑनलाइन मैग्जीन लश्कर के लिए सबसे अच्छा तरीका है.

इसे भी पढ़ें-कश्मीर में आजादी, आजादी का शोर, भड़की बीजेपी

  • दलित-बहुजन मीडिया को मजबूत करने के लिए और हमें आर्थिक सहयोग करने के लिये दिए गए लिंक पर क्लिक करें https://yt.orcsnet.com/#dalit-dastak 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.