रायबरेली नरसंहार मामले में योगी के दो मंत्री आमने-सामने

लखनऊ। रायबरेली नरसंहार मामले में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के दो मंत्री एक दूसरे के लिए खुलकर बयानबाजी कर रहे हैं. गौरतलब है की ऊंचाहार में जमीन विवाद में पांच लोगों की हत्या कर दी गई थी. इस मामले में अब योगी सरकार के मंत्री बृजेश पाठक ने स्वामी प्रसाद मौर्य पर निशाना साधा है. असल में बृजेश पाठक ने स्वामी प्रसाद मौर्य को ऊंचाहार में पांच लोगों की हत्या के मामले में हत्यारों का संरक्षक बताया है. पाठक ने मौर्य के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि अपराधियों को सरंक्षण देने वाले बख्शे नहीं जाएंगे. उन्होंने कहा कि अपराधियों को संरक्षण देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी.

बता दें की नरसंहार मामले पर कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा था कि जो लोग मारे गए हैं, वो किराए के गुंड़े थे. उन पर अलग-अलग थानों में केस दर्ज है. घटना में मारे गए सभी पांचों शातिर अपराधी थे. वे प्रधान की हत्या के उद्देश्य से गांव में गए थे, जहां ग्रामीणों के कोपभाजन का शिकार हुए. मौर्य ने आगे कहा कि कुछ जातिवादी सोच वाले लोग इसका विरोध कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मारे गए लोग ब्राह्मण नहीं थे, बल्कि अपराधी थे.

रायबरेली की ऊंचाहार कोतवाली क्षेत्र में हुए वीभत्स सामूहिक हत्याकांड की लगातार निंदा की जा रही है. रविवार को हत्याकांड के विरोध में सैकड़ों ब्राह्मणों ने प्रदर्शन किया. हत्याकांड में तीन लोगों की हत्या कर दी गई थी और दो लोगों को गाड़ी में जिंदा जला दिया गया था.

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here