शिक्षामित्रों के आगे झुकी यूपी सरकार, देगी 25 अंक का वेटेज

shikshamitra

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में शिक्षामित्रों के विरोध प्रदर्शन से घबराई योगी सरकार ने शिक्षामित्रों के आगे घुटने टेक दिए हैं. यूपी कैबिनेट की बैठक में शिक्षामित्रों को वेटेज देने समेत कई अहम प्रस्तावों पर आज मुहर लगायी गई. योगी सरकार प्रदेश के 1.65 लाख शिक्षामित्रों को शिक्षक भर्ती में उनके सेवाकाल के आधार पर 25 अंक तक का वेटेज देने जा रही है. हालांकि शिक्षामित्रों को TET से छूट प्रदान नहीं की गयी है.

TET पास अभ्यार्थियों ने शिक्षा‌ विभाग के इस प्रस्ताव का विरोध किया था. कैबिनेट की मंजूरी के बाद अब उत्तर प्रदेश के उन शिक्षमित्रों को सहायक अध्यापक पद पर स्थायी नियुक्ति में वेटेज दिया जाएगा, जो दो साल में टीईटी पास कर लेंगे. बेसिक शिक्षा विभाग के प्रस्ताव के अनुसार, शिक्षक पात्रता परीक्षा में पास शिक्षामित्रों को 2.5 अंक प्रति वर्ष के हिसाब से वेटेज दिया जायेगा, जो अधिकतम 25 अंक होगा.

कैबिनेट मीटिंग के बाद सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि कैबिनेट में शिक्षामित्रों से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी है. उन्होंने कहा कि प्राइमरी स्कूल में सहायक अध्यापक बनने के लिए अब परीक्षा देनी होगी. यह परीक्षा टीईटी क्वालीफाई करने के बाद देनी होगी. शिक्षक भर्ती की मेरिट में लिखित परीक्षा के भी अंक जोड़े जायेंगे.

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि अब यूपी में लिखित परीक्षा के माध्यम से बेसिक शिक्षकों की भर्ती होगी. इसके लिए 60 नंबर लिखित और 40 एकेडमिक होंगे. इस परीक्षा में सिर्फ टीईटी पास अभ्यर्थी ही बैठ सकेंगे. उन्होंने कहा कि शिक्षामित्रों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का सरकार अनुपालन करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here