भाई के कंधे पर बहन ने दम तोड़ा, चार बार फोन पर भी नहीं पंहुची एंबुलेंस  

मिर्जापुर। उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं की सहायता के लिए दिन प्रतिदिन नई सेवाएं लागू तो करती है, लेकिन असल मायने में उसका फायदा महिलाओं को नहीं मिल पाता है. कल एक दर्दनाक घटना यूपी के मिर्जापुर जिले में हुई जहां 108  एंबुलेंस के समय से न पहुंचने की वजह से मिर्जापुर के मड़िहान सीएचसी के बाहर एक घंटे तक इंतजार के बाद महिला की मौत हो गई. जिसे लेकर ग्रामीणों में गहरा आक्रोश है.

मिर्जापुर क्षेत्र के जुड़िया गांव निवासी मजदूर शिवकुमार की 23 वर्षीय पत्नी सबीतर की दोपहर तीन बजे अचानक तबीयत खराब हो गई थी. जिसके बाद उसे प्राथमिक उपचार केंद्र में भर्ती कराया गया. तबियत ज्यादा बिगड़ने पर चिकित्सकों ने उसे जिला अस्पातल रेफर कर दिया.

इस दौरान परिजनों ने महिला को जिला अस्पताल ले जाने के लिए लगभग चार बजे 108 एंबुलेंस पर फोन किया. लेकिन एंबुलेंस नहीं आई. अंत में सुविधा नहीं मिलने पर भाई अपनी बीमार बहन को पीठ पर बिठाकर अस्पताल के लिए रवाना हो गया. जहां आधे रास्ते में ही महिला की मौत हो गई.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here