भारतीय महिला टीम ने पाकिस्तान को 95 रन से हराया

india vs pakistan women cricket

डर्बी। एकता बिष्ट के पांच विकेट की बदौलत भारत ने आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप के राउंड रॉबिन मैच में आज यहां पाकिस्तान को 95 रन से हराकर जीत की हैट्रिक बनाई. भारतीय टीम के 170 रन के साधारण से लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान की टीम एकता (18 रन पर पांच विकेट) की बलखाती गेंदों के सामने 48 .1 ओवर में मात्र 74 रन पर ढेर हो गई. तेज गेंदबाज मानसी जोशी ने दो जबकि झूलन गोस्वामी, हरमनप्रीत कौर और दीप्ति शर्मा ने भी एक-एक विकेट चटकाया. पाकिस्तान की ओर से कप्तान सना मीर ने सर्वाधिक 29 रन बनाए.

उनके अलावा सलामी बल्लेबाज नाहिदा खान (23) ही दोहरे अंक में पहुंच पाई. एकता को उनके प्रदर्शन के लिए प्‍लेयर ऑफ द मैच घोषित किया गया. इससे पहले भारतीय टीम नासरा संधू (26 रन पर चार विकेट) और सादिया यूसुफ (30 रन पर दो विकेट) की घातक स्पिन के सामने नौ विकेट पर 169 रन ही बना सकी. तेज गेंदबाज डायना बेग ने भी 28 रन देकर एक विकेट हासिल किया. भारत की ओर से सलामी बल्लेबाज पूनम राउत ने सर्वाधिक 47 रन की पारी खेली जबकि दीप्ति शर्मा ने 28 रन बनाए. सुषमा वर्मा (33) और झूलन गोस्वामी (14) ने सातवें विकेट के लिए 34 रन जोड़कर टीम का स्कोर 150 रन के पार पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई.

भारत तीन मैचों में तीन जीत से छह अंक के साथ अंक तालिका में सबसे ऊपर है जबकि पाकिस्तान को अपने तीनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा है. भारतीय टीम के लक्ष्य का पीछा करने उतरे पाकिस्तान की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने आठवें ओवर में 14 रन तक ही चार विकेट गंवा दिए. एकता ने दूसरे ओवर में अपनी चौथी ही गेंद पर आयशा जफर (1) को रणआउट किया. नाहिदा हालांकि झूलन के अगले ओवर में भाग्यशाली रही जब दीप्ति शर्मा ने गली में उनका मुश्किल कैच टपका दिया.

जावेरिया खान (4) ने झूलन पर पारी का पहला चौका जड़ा लेकिन एक गेंद बाद रणआउट हो गईं. उन्होंने डीआरएस का सहारा भी लिया लेकिन तीसरे अंपायर ने मैदानी अंपायर के फैसले को सही करार दिया. एकता ने इसके बाद लगातार ओवरों में सिदरा नवाज (0) और इराम जावेद (0) को रणआउट करके पाकिस्तान के बल्लेबाजी क्रम की कमर तोड़ी. दीप्ति ने नैन अबीदी (5) को बोल्ड करके पाकिस्तान को पांचवां झटका दिया जबकि मानसी ने असमाविया इकबाल को विकेटकीपर सुषमा के हाथों कैच कराके टीम का स्कोर छह विकेट पर 26 रन किया. नाहिदा और कप्तान सना ने आठ ओवर से अधिक तक कोई विकेट नहीं गिरने दिया. नाहिदा इसके बाद हरमनप्रीत की गेंद को सुषमा के हाथों में खेल गई. उन्होंने 62 गेंद में तीन चौकों की मदद से 23 रन बनाए.

सना ने एकता पर चौके के साथ 27वें ओवर में टीम के 50 रन पूरे किए लेकिन बायें हाथ की इस स्पिनर ने अगले ओवर में नासरा (1) और डायना (0) को लगातार गेंदों पर पेवेलियन भेजा. सना और सादिया (नाबाद 3) ने नौ ओवर से अधिक समय तक पाकिस्तान की हार को टाला लेकिन मानसी ने विरोधी कप्तान को बोल्ड करके भारत को जीत दिला दी.

इससे पहले, मैच में बल्‍लेबाजी करते हुए मैच में भारत की शुरुआत खराब और बेहद धीमी रही टीम का स्कोर जब सात रन था तभी चौथे ओवर की तीसरी गेंद पर शानदार फॉर्म में चल रही मंधाना (2) पेवेलियन लौट गईं. पूनम और दीप्ति ने हालांकि विकेट पर अपने पैर जमाए लेकिन रनों की गति को बढ़ा नहीं सकीं. दोनों ने 18.5 ओवरों में 3.55 की औसत से सिर्फ 67 रन जोड़े.

अर्धशतक से तीन रन दूर पूनम को संधु ने अपना शिकार बनाया और यहां से भारत के विकेट ताश के पत्तों की तरह गिरने लगे. कप्तान सिर्फ आठ रन ही बना सकीं. अंत में सुषमा और झूलन ने सातवें विकेट के लिए 34 रनों की साझेदारी कर टीम को इस स्कोर तक पहुंचाने में मदद की. मानशी जोशी चार रन और पूनम यादव छह रनों पर नाबाद लौटीं. पाकिस्तान की तरफ से नाशरा संधू ने सर्वाधिक चार विकेट लिए. सादिया युसूफ को दो सफलता मिलीं. डायना बेग और असमाविया इकबाल के हिस्से एक-एक विकेट आया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here