राष्‍ट्रपति को तानाशाही शक्तियां देने का विरोध कर रहे 10 नागरिकों की मौत

वेनेजुएला में राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को असीमित शक्तियां देने के खिलाफ लंबे समय से प्रर्दशन चल रहा है. जिसके बाद अधिकतर लोगों ने मतदान से भी दूरी बना रखी है और बड़ी संख्या में लोग प्रदर्शन करने के लिए सड़कों पर उतर रहे हैं. इस दौरान प्रदर्शनकारियों एवं बलों के बीच हुए संघर्ष में 10 लोगों की मौत हो गई. मतदान के जरिए सरकार वेनेजुएला पर पूर्ण राजनीतिक प्रभुत्व हासिल करने की पूरी कोशिश कर रही है.

सरकार के इस कदम से अमेरिकी प्रतिबंध और नए सिरे से सड़कों पर दंगे होने की आशंका बढ़ गई है. अप्रैल से शुरू हुए इन संघर्षों में कम से कम 122 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 2,000 लोग घायल हुए हैं. हसा के कारण मतदान बुरी तरह प्रभावित हुए थे. प्रदर्शनकारियों ने मतदान केंद्रों पर हमला किया जिसके जवाब में सुरक्षा बलों ने गोलीबारी की. इस हिंसा में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई.

अर्जेंटीना, कोलंबिया, पेरू, पनामा, और अमेरिका का कहना है कि वे इस मतदान को मान्यता नहीं देंगे. कनाडा और मैक्सिको ने भी चुनाव को अस्वीकार करने के संबंध में बयान जारी किया है. इस बीच, संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निकी हेली ने एक ट्वीट में कहा,‘‘मादुरो का यह दिखावटी चुनाव तानाशाही की ओर एक और कदम है. हम अवैध सरकार को स्वीकार नहीं करेंगे. वेनेजुएला की जनता एवं लोकतंत्र की जीत होगी.’’राजधानी में करीब 20 लाख लोग हैं लेकिन दर्जनों मतदान केंद्र वस्तुत खाली रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here