यूपी सरकार ने पर्यटन स्थल की सूची से हटाया ‘ताजमहल’

Tajmahal

लखनऊ। अगर आपसे कहा जाए कि ताजमहल अब घुमने की जगह नहीं… तो आप चौंक जाएंगे… लेकिन जनाब ये खबर ही चौकाने वाली है… ये हम नहीं कह रहे बल्कि यूपी सरकार कह रही है… मुमताज की याद में शाहजहां की तरफ से दिए गए इस नायाब तोहफे को यूपी सरकार ने अपनी टूरिस्ट सूची से हटा दिया है. प्रदेश सरकार की तरफ से जो नई बुकलेट जारी की गई है उसमें दुनिया के इस सातवें अजूबे यानि ताजमहल का नाम शामिल नहीं किया गया. हां इनके जगह पर कुछ नए नामों को जरुर शामिल किया है जिसमें खासतौर पर गोरखधाम मंदिर का नाम है… साथ ही गोरखपुर के देवी पटन शक्ति पीठ को भी इस सूची में शामिल किया गया है. आईए देखते है यूपी सरकार के इस फैसले पर लोगों का क्या कहना है…

जहां नए बुकलेट का पहला पेज वाराणसी की गंगा आरती के नाम समर्पित किया गया है…वहीं दूसरे पेज में सीएम योगी आदित्यनाथ और पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी की तस्वीर भी लगाई गई है… लेकिन बुकलेट से ताजमहल के नाम को जिस तरह से हटाया गया है उससे तय हो गया है कि प्रदेश सरकार अपने हिन्दुत्व के एजेंडे पर काम कर रही है जिसमें पुराने धरोहरों को हटाकर या बदलकर उसे एक खास रंग देने की कोशिश में लगी है. आपको बता दें कि इससे पहले योगी सरकार मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखने का फैसला कर चुकी है

हालांकि ताजमहल मामले में सरकार की तरफ से अभी कोई अधिकारिक बयान नहीं आया है… लेकिन जिस तरह से इस एतिहासिक धरोहर को सियासत के रंग में रंगने की कोशिश की गई है और सीएम के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर को ज्यादा तबजौ देने की कोशिश की गई है…उससे देश की छवि दुनिया के रंगमंच पर कहीं न कहीं जरुर धुमिल होगी…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here