बाहुबली बने तेजस्वी यादव, विधानसभा में धरने पर बैठे

पटना। सृजन घोटाले को लेकर राजद लगातार नीतीश सरकार को घेरने में लगी है. इसके चलते विधानसभा का मानसून सत्र भी हंगामे की भेंट चढ़ता जा रहा है. सदन में तीसरे दिन भी कोई कार्यवाही नहीं हो पाई. घोटाले का विरोध करते हुए पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव अपने विधायकों के साथ विधानसभा परिसर में धरने पर बैठ गए. इस दौरान उन्होंने नीतीश कुमार की इस्तीफा भी मांग लिया.

अपने विधायकों के साथ धरने पर बैठे तेजस्वी ने सृजन घोटाले में संलिप्तता और आरोपियों को बचाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के इस्तीफे की मांग की. उन्होंने कहा कि ये घोटाला 1000 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का है.

तेजस्वी ने कहा कि घोटाला भागलपुर, भोजपुर, बांका समेत बिहार के कई जिलों में हुआ है. अधिकारी घोटाले की लीपापोती करने में लगे हुए हैं. तेजस्वी यादव ने कहा कि सृजन घोटाले के कई आरोपी विदेश भाग गए है. गरीब जनता के पैसे जदयू और भाजपा नेताओं को दिया जा रहा है. सरकार आरोपियों को बचाने में जुटी हुई है.

सीएम नीतीश कुमार और सुशील मोदी को जानकारी होने के बाद भी 10 साल तक मामले को दबा कर रखा गया. सरकार मामले को रफा दफा कराने में लगी हुई है. कई जदयू नेता भी घोटाले में संलिप्त हैं. तेजस्वी यादव के साथ तेजप्रताप समेत कई राजद नेता भी प्रतिमा के पास बैठे.

27 अगस्त की रैली से पहले ‘बाहुबली’ बने तेजस्वी यादव

बिहार में जारी सियासत के बीच विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का बाहुबली अवतार देखने को मिल रहा है. इसी महीने की 27 तारीख को राजधानी पटना में होने वाली आरजेडी की रैली को लेकर पटना शहर पोस्टर और बैनर से पटने लगा है.

इस क्रम में आरजेडी के नेता धर्मेंद्र यादव ने एक ऐसा फ्लैक्स पटना शहर में लगाया गया है जो लोगों का ध्यान अपनी ओर खींच रहा है. इस फ्लैक्स में तेजस्वी सुपरहिट फिल्म बाहुबली के लीड किरदार वाले गेटअप में नजर आ रहे हैं.

शहर में लगे इस बड़े से फ्लैक्स में तेजस्वी यादव को बाहुबली अवतार में दिखाया जा रहा है. 27 अगस्त को पटना के गांधी मैदान में आरजेडी की ‘बीजेपी हटाओ, देश बचाओ’ रैली आयोजित होगी. इस रैली में गैर-एनडीए दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here