ईद पर भी नहीं माने पत्थरबाज, CRPF कैंप पर हमला

अनंतनाग। ईद के त्योहार के मौके पर भी कश्मीर में पत्थरबाज अपनी हरकत से बाज नहीं आए. कश्मीर के अनंतनाग की जंगलातमंडी में लोगों ने सीआरपीएफ कैंप पर पत्थरबाजी की. जिसके बाद फोर्स ने उनपर आंसू गैस भी छोड़ी. पत्थरबाज वहां पर मूसा के समर्थन में नारेबाजी कर रहे थे. ईदगाह के पास पत्थरबाजी के दौरान दो सीआरपीएफ जवान घायल हो गए हैं. इसके अलावा घाटी में कई जगहों पर पत्थरबाजी की खबरें सामने आ रही हैं. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इंडिया टुडे द्वारा पत्थरबाजों पर किए गए सवालों का कोई जवाब नहीं दिया.

श्रीनगर में पत्थरबाजों ने ईद के दिन भी CRPF के जवानों पर हमला किया. श्रीनगर के ईदगाह का इलाके में पत्थरबाजों ने नमाज के पहले सुरक्षा के लिए तैनात CRPF की टुकड़ी पर हमला किया. CRPF के साथ-साथ जम्मू कश्मीर पुलिस के जवानों पर पत्थरबाजों ने पत्थर बरसाए. पत्थरबाजी में CRPF के 2 जवान घायल हो गए. खबर यह भी है कि इस पत्थरबाजी में स्थानीय पुलिस के 4 जवान और 1 आम नागरिक भी घायल हो गए हैं. पत्थरबाजों के झुंड को भगाने के लिए सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े. लगभग 100 पत्थरबाजों के हुजूम ने CRPF जम्मू कश्मीर पुलिस पर नमाज शुरु होने से पहले ही ईद गाह इलाके में पत्थर बरसाने शुरू कर दिया.

सीआरपीएफ कमांडेंट भावेश चौधरी ने आज तक से बातचीत में कहा पत्थर बाजों ने ईदगाह इलाके में नमाज शुरु होने से पहले ही जवानों पर पत्थरों से हमला शुरु कर दिया. भावेश चौधरी ने कहा कि पत्थरबाजों ने नमाज शुरु होने से पहले ही सुरक्षा के लिए तैनात सीआरपीएफ जम्मू कश्मीर पुलिस के जवानों पर हमला कर दिया जिसमें सीआरपीएफ के 2 जवान, कश्मीर पुलिस के 4 जवान और 1 आम नागरिक घायल हो गए हैं. पत्थर बाजों ने ईद के पवित्र दिन भी हिंसा करते हुए अपना असली चेहरा आवाम के सामने रख दिया है.

आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से लगातार कश्मीर का माहौल बिगड़ा है. अभी हाल ही में कश्मीर के नौहटा में नमाज के दौरान ड्यूटी कर रहे DSP मोहम्मद अयूब पंडित की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. जिससे माहौल बिगड़ा है.

मूसा ने किया था बड़ा खुलासा
जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से लगातार आतंकियों के खिलाफ सेना बड़ी कार्रवाई कर रही है. कई आतंकी मारे भी गए हैं. अब इसको लेकर तालिबान-ए-कश्मीर के लीडर ज़ाकिर मूसा ने बड़ा खुलासा किया है. मूसा का कहना है कि आर्मी ने पिछले 7 दिनों में जिन आतंकियों को मारा है, उनमें से अधिकतर की जानकारी खुद उसने ही सेना को दी थी. मूसा ने कहा कि हाल ही में दो ऑपरेशन के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के जुनैद मट्टू और निसार अहमद जैसे लोगों के बारे में उसने ही जानकारी दी थी. मुसा के ग्रुप की ओर से एक वीडियो जारी कर इस बात की जानकारी दी गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here