गोरखपुर में बच्चों की मौत पर शिवसेना आक्रामक, पूछा कहां है अच्छे दिन?

मुंबई। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पिछले 7 दिनों में हुई 60 से ज्यादा मौतों को को लेकर शिवसेना ने मोदी सरकार और योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. इस मामले में सिर्फ विपक्षी पार्टियां ही नहीं बल्कि सरकार की सहयोगी पार्टियां भी योगी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रही हैं.

शिवसेना ने इस हादसे को ‘सामूहिक बालहत्या’ करार दिया है. सामना में लिखा है कि उत्तर प्रदेश में हुआ ये बड़ा हादसा, स्वतंत्रता दिवस का अपमान है. गरीबों के साथ जो हुआ, ये बेहद निंदनीय है. मोदी पर हमला करते हुए सामना में लिखा गया है कि उनकी ‘मन की बात’ को समझने की बजाय, उनकी वेदनाओं की खिल्ली उड़ाई जाती है, आखिर इस हत्याकांड के लिए जिम्मेदार कौन है?

शिवसेना ने अपने मुखपुत्र सामना में इस घटना को लेकर योगी सरकार और मोदी सरकार पर हमला बोला है. सामना में लिखा है कि यूपी के गोरखपुर अस्पताल में 70 बच्चों की मौत को सामूहिक बालहत्या ही कहेंगे, यह गरीबों की बदकिस्मती है. वहीं सामना में मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा है कि केंद्र में सत्ता परिवर्तन होने के बावजूद, आज भी सरकारी अस्पतालों में गरीब और ग्रामीण लोगों के लिए अच्छे दिन नहीं आए हैं.

गौरतलब है कि स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि पिछले कई सालों से अगस्त के महीने में कई बच्चे गोरखपुर के इस अस्पताल में दिमागी बुखार की चपेट में आकर जान देते है. उन्होंने आंकड़े भी पेश किए. हालांकि उन्होंने सीधे तौर पर तो नहीं कहा लेकिन, उनकी बात का अर्थ ये ही था कि हर साल अगस्त में बच्चे मरते ही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here