कोठे से छुड़ाकर बांधा सात जन्मों का बंधन

दिल्ली। आज के दौर में यह कहानी फिल्मी सी मालूम होती है पर यह भी सच है कि प्यार की ताकत के साथ लोग नयी मिसाल कायम करते हैं ऐसी ही एक मिसाल सामने आयी है. जिसमें दिल्ली के रहने वाले एक युवक को जीबी रोड के कोठे में एक नेपाली युवती से प्यार हो गया जिसके बाद युवक ने उस युवती को कोठे से छुड़ाने की कसम खा ली. उसने पुलिस व महिला आयोग से युवती को छुड़ाने की गुहार लगायी, जिसमें कामयाबी प्राप्त हुई.

बता दें कि ये फिल्मी कहानी लगने वाली घटना दो प्यार करने वालों के संघर्ष की सच्चाई है. 16 जुलाई को आर्य समाज मंदिर में ब्याह रचाने के बाद प्रेमी जोड़े ने कोर्ट मैरिज कर ली. बीते माह प्रेमी की गुहार के बाद दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस के साथ छापेमारी कर युवती को जीबी रोड की बदनाम गलियों से बाहर निकाला था जिसके बाद राजधानी के एक आर्य समाज मंदिर में हुई इस शादी में लड़के के परिवार वालो और आसपास के लोगों ने भी हिस्सा लिया.

इससे पहले युवक ने महिला आयोग पहुंचकर बताया था कि वह जीबी रोड के कोठे पर रहने वाली एक युवती से प्यार करता है और उसके साथ जिंदगी बिताना चाहता है. जिसके बाद आयोग की टीम ने पुलिस और एनजीओ शक्तिवाहिनी के साथ मिलकर लड़की को कोठे नंबर-68 से छुड़ाया था. शादी के बाद नवदंपत्ति बुधवार को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल से मिलने पहुंचा और दोनों ने बताया कि वे शादी करके बेहद खुश हैं.

नवदंपत्ति ने मालीवाल को जानकारी देते हुए बताया की जीबी रोड पर युवतियों से जबरन काम कराया जाता है. लड़की के विरोध करने पर उन्हें मारा-पीटा तक जाता है. लड़के ने कहा कि वह चाहता है कि समाज के और लोग भी आगे आएं और ऐसी महिलाओं को नया जीवन दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here