देश के संविधान को अपंग बनाना चाहती है मोदी सरकार: राहुल गांधी

बंगलूरू। मोदी सरकार पर संविधान की शक्तियों को कम करने के आरोप लगातार लगते रहे हैं पर अब ताजा बयान राहुल गांधी का आय़ा है. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस पर फिर से हमला बोला है. कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर से जुड़े एक कार्यक्रम में राहुल गांधी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी, पीएम मोदी और आरएसएस आजकल एक एक कर देश की संवैधानिक संस्थाओं पर कब्जा कर रही है.

राहुल गांधी ने अपने भाषण में छात्र रोहित वेमुला का जिक्र किया. उन्होंने कहा, ‘लोग कहते हैं कि रोहित वेमुला ने आत्महत्या कर ली थी, मैं इसे हत्या कहता हूं, उसने जो अपमान सहे उसकी वजह से उसकी हत्या हुई, वो मारा गया क्योंकि वो दलित था.’ राहुल गांधी ने अपने भाषण में कथित तौर पर गोमांस रखने के लिए मारे गये अखलाक का भी जिक्र किया. राहुल ने कहा कि वे लोग कहते हैं कि अखलाक इसलिए मारा गया क्योंकि उसने एक गाय चुराई थी, ये झूठ है. राहुल ने कहा कि अखलाक की हत्या पर सवाल उठाने के बजाय वे लोग इस पर बहस कर रहे हैं कि फ्रिज में रखा गया मांस मटन था या बीफ.

राहुल गांधी ने कहा कि नरेन्द्र मोदी और आरएसएस चाहती है कि हिन्दुस्तान इनके सामने अपनी आवाज को सरेंडर कर दे. राहुल ने आरोप लगाया कि देश को जो संविधान बाबा साहेब ने दिया है मोदी सरकार उसे खत्म कर देना चाहती है, पंगु बना देना चाहती है. राहुल ने बाबा साहेब का जिक्र करते हुए कहा कि सच्चाई और सत्ता एक चीज नहीं है, अम्बेडकर इसलिए महान हुए क्योंकि उन्होंने सच का साथ दिया. राहुल यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि शहंशाह पूरी तरह से नंगा है लेकिन उसके आस पास मौजूद किसी भी व्यक्ति को ये सच्चाई कहने की हिम्मत नहीं है. राहुल गांधी ने किसानों, मजदूरों और नोटबंदी को लेकर भी सरकार पर हमला किया.

राहुल ने कहा कि सरकार सार्वजनिक मंचों पर सरकार भले ही नोटबंदी को मास्टर स्ट्रोक बताती है, लेकिन बंद कमरों में सरकार भी ये स्वीकार करती है कि ये एक बड़ी गलती थी यह सरकार तानाशाह होती जा रही है जिससे सबसे अधिक गरीब जनता परेशान है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here