अध्यक्ष बनने के बाद मोदी को ऐसे हराएंगे राहुल गांधी

अहमदाबाद। कांग्रेस पार्टी के नवनिर्वाचित अध्यक्ष गुजरात विधानसभा चुनाव में भले ही मामूली अंतर से पिछड़ गई हो, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात को लेकर अब भी गंभीर है. विधानसभा चुनाव में पार्टी के शानदार प्रदर्शन के बाद राहुल गांधी की नजर अब 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव पर टिक गई है. इसके लिए उन्होंने अपनी रणनीति पर काम करना भी शुरू कर दिया है.

राहुल गांधी आज से गुजरात के दौरे पर हैं. इस दौरान गांधी राज्य में पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और नए विधायकों से मुलाकात करेंगे.लेकिन गुजरात पहुंचते ही राहुल सबसे पहले ज्योतिर्लिंग सोमनाथ मंदिर के दर्शनों के लिए गए. हाल में संपन्न गुजरात विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान भी राहुल विभिन्न मंदिरों में गए थे जिनमें सोमनाथ मंदिर भी शामिल था.

मंदिर दर्शन के बाद राहुल अहमदाबाद के गुजरात विश्वविद्यालय सभागार में पार्टी कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल होंगे. यहां वह उत्तर गुजरात, मध्य गुजरात, कच्छ, सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के नेताओं से अलग-अलग बैठक करेंगे. असल में यह चिंतन शिविर गुरुवार से चल रहा था. इसके आखिरी दिन अहमदाबाद में बैठक हो रही है, जहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे.

असल में राहुल गांधी गुजरात विधानसभा चुनाव में मिले वोटों को पार्टी से जोड़कर रखना चाहते हैं, ताकि 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को इसका फायदा मिल सके. गुजरात में लोकसभा की 26 सीटे हैं और सभी की सभी सीटों पर फिलहाल भाजपा का कब्जा है. जाहिर सी बात है कि राहुल गांधी 2019 के लोकसभा चुनाव में इसे भाजपा से छीनकर कांग्रेस की झोली में डालना चाहते हैं. यह मोदी और अमित शाह के लिए भी बड़ा झटका होगा.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here