पद्मावती फिल्म के विरोध में चित्तौड़गढ़ किले पर प्रदर्शन

padmavati

जयपुर। फिल्म पद्मावती के विरोध में ऐतिहासिक चित्तौड़गढ़ किला शुक्रवार को पर्यटकों के लिए बंद किया गया है. भारत के सबसे बड़े किलों में शामिल चित्तौड़ दुर्ग के पाडनपोल में बीते कई दिनों से फिल्म पद्मावती के विरोध में सर्व समाज की ओर धरना दिया रहा है.

जौहर स्मृति संस्थान के अध्यक्ष उम्मेद सिंह ने बताया कि आज फिल्म के विरोध स्वरुप पर्यटकों को किले में प्रवेश नहीं दिया जाएगा जबकि किले में रहने वाले लोगों की आवाजाही पर कोई असर नहीं होगा. इस बंद के कारण आज यहां आने वाली शाही ट्रेन के पर्यटकों को भी यहां नहीं लाया जाएगा.

संस्थान की ओर से चेतावनी दी गई थी कि यदि 16 नवंबर तक फिल्म पर बैन नहीं लगा तो 17 नवंबर को किले में पर्यटकों को नहीं जाने दिया जाएगा. इसी क्रम में आज यह कदम उठाया गया है. दुर्ग की सुरक्षा के लिए प्रशासन ने विशेष इंतजाम किए है. साथ ही प्रदर्शन कर रहे लोगों पर भी विशेष नजर रखी जा रही है. जानकारी के अनुसार इससे पूर्व दुर्ग केवल तीन बार पर्यटकों के लिए बंद रहा है. जिसमें दो बार दुर्ग कर्फ्यू व सांप्रदायिक तनाव के चलते अघोषित रुप से बंद था.

गौरतलब है कि फिल्म पद्मावती का पिछले कई दिनों से करणी सेना सहित तमाम हिंदूवादी संगठन और भाजपा नेता विरोध कर रहे हैं. फिल्म का निर्देशन संजय लीला भंसाली ने किया है. फिल्म में दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शहीद कपूर जैसे बड़े अभिनेता शामिल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here