सेक्स रैकेट चलाने वाला इच्छाधारी बाबा अब धोखाधड़ी में गिरफ्तार

नई दिल्ली। हमारे देश के लोग बाबाओं को इतना मानते है कि उनपर आंख मुंद कर विश्वास करने लगते है. राम रहीम, आसाराम, रामपाल का हाल तो देख ही चुके हैं. अब दिल्ली में एक इच्छादारी भीमानंद बाबा को 30 लाख रूपए की ठगी करने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

यही नहीं, इच्छाधारी बाबा पर सेक्स रैकिट चलाने के आरोप में मकोका का केस भी चल रहा है. इच्छाधारी बाबा कई नाम से जाना जाता है. उसको राजीव रंजन उर्फ शिवा कहा जाता है. पुलिस ने इस ठगी में उसकी मदद करने के आरोप में कंकना देब उर्फ कोकना को भी गिरफ्तार कर लिया. रोहिणी में रहने वाली एक लड़की के अलावा उनकी बहन और भाई को सरकारी जॉब दिलाने के नाम पर 30 लाख रुपये की ऐंठने का आरोप है. गिरोह में शामिल तीन अन्य आरोपियों श्रीकांत, आर्यन और अनिकेत की तलाश जारी है.

गिरोह ने रोहिणी निवासी युवती को इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म निगम (आईआरसीटीसी) में सहायक मैनेजर की नौकरी लगवाने के नाम पर ठगा था. उसके दो अन्य रिश्तेदारों को भी फूड इंस्पेक्टर की नौकरी दिलवाने के नाम पर चूना लगाया था.

दक्षिणी पूर्वी जिला पुलिस उपायुक्त रोमिल बानिया ने बताया कि 24 अगस्त को युवती ने शिकायत दर्ज करवाई थी. इसके आधार पर पुलिस ने शिवा और कनकना को गिरफ्तार किया. पुलिस ने इनकी निशानदेही पर फर्जी मेडिकल सर्टिफिकेट, बैंक खाता, फर्जी ऑफर लेटर, चरित्र प्रमाण पत्र, आईआरसीसीटी का पहचान पत्र, कई अपॉइंटमेंट लेटर (असम राइफल्स, उत्तर रेलवे, भारतीय वायु सेना, दिल्ली नगर निगम, लोक निर्माण विभाग) व अन्य विभागों के फर्जी लेटर भी बरामद किए.

पुलिस अफसरों ने बताया कि इच्छाधारी बाबा सेक्स रैकिट बाबा के नाम से जाना जाता है. वह नागों के साथ घूमने और नागिन डांस को लेकर हमेशा चर्चा में रहता था. साल 2010 में उसे दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था. तफ्तीश में पुलिस को पता चला कि बाबा हाई प्रोफाइल सेक्स रैकिट चलाता है. उसके सेक्स रैकिट में 600 के करीब हाई प्रोफाइल लड़कियां शामिल थीं. पुलिस को उसकी दिल्ली सहित दूसरे शहरों में भारी प्रॉपर्टी का पता चला था. पुलिस ने इनकी कीमत 2,500 करोड़ रुपये के करीब आंकी थी. नेता से लेकर सीनियर अधिकारी बाबा के पास आते थे.

पुलिस अफसरों ने यह भी बताया कि इच्छाधारी बाबा चित्रकूट के चमरौहा गांव का रहने वाला है. वह 1988 में नेहरू प्लेस स्थित एक फाइव स्टार होटल में गार्ड की नौकरी करता था. वह खुद को साईं बाबा का अवतार बताता था. खानपुर के जिस मकान में वह रहता था उसने उस मकान को मंदिर में बदलकर वहां बाबा बनकर बैठ गया था. वह बाबा का चोला पहनकर सेक्स रैकिट का धंधा करने लगा था. 12 साल के अंदर वह मामूली गार्ड से करोड़ों का मालिक बन गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here