फिर शुरू हुआ पाटीदारों का प्रदर्शन, सूरत में फूंकी 2 बसें

सूरत। गुजरात में एक बार फिर पाटीदारों ने हिंसक प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने दो बसें फूंक दी. सूरत में हुई घटना के बाद पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया. सूरत में भारी संख्या में सुरक्षा बलों को भी तैनात किया गया है.

दरअसल, मंगलवार (12 सितंबर) की शाम सौराष्ट्र भवन में गुजरात भाजपा युवा मोर्चा के कार्यक्रम में हार्दिक पटेल के नेतृत्व वाली पाटीदार अनामत आंदोलन समिति से कथित तौर पर जुड़े कुछ लोगों ने हंगामा करने की कोशिश की थी. यह कार्यक्रम भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए आयोजित किया था.

सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव भी किया. हीराबाग सर्किल में दो बसें फूंक दी गई. इलाके में अब स्थिति नियंत्रण में है. कंट्रोल रूम के एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा.

भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष रुतविज पटेल का कहना है कि यह घटना पटेल समुदाय के रुख को उजागर नहीं करती. यह बवाल 6-7 लड़कों द्वारा किया गया. पूरा पटेल समुदाय हमारे साथ है.

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए हार्दिक पटेल ने दावा किया कि विरोध शांतिपूर्ण हो रहा था लेकिन पुलिस ने बेवजह लाठीचार्ज का इस्तेमाल किया. उन्होंने पाटीदार बहुल क्षेत्र में कोई भी कार्यक्रम की अनुमति न देने की पुलिस से अपील की. जानकारी के मुताबिक पाटीदार युवक भाजपा युवा मोर्चा के कार्यक्रम में बाधा डाल रहे थे जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया लेकिन हिरासत में लेते ही बवाल मच गया.

गौरतलब है कि सूरत में पाटीदारों का काफी दबदबा है. यहां इनकी आबादी 10 लाख से ज्यादा है. पाटीदार समुदाय को 2015 में हार्दिक पटेल के रूप में नया नेता मिला था जिसने आरक्षण को लेकर पूरे राज्य में आंदोलन किया था. इस आंदोलन के दौरान काफी हिंसा भी हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here