उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष ने गोपाल कृष्ण गांधी के नाम पर मुहर लगाई

नई दिल्ली।  उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के नाम पर मोहर लगाने के लिए आज हुई बैठक में महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी के नाम पर सहमती बन गयी है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हो रही इस बैठक में जेडीयू, आरजेडी, टीएमसी, सपा, बसपा समेत 18 दलों के प्रमुख शामिल थे. इस बार राष्ट्रपति चुनाव में अलग राह अपनाने वाली जेडीयू भी विपक्ष के साझा उम्मीदवार के साथ खड़ी दिख रही हैं.

बता दें कि इससे पहले राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष की तरफ से गोपाल कृष्ण गांधी को उतारने की बातें सामने आ रही थीं, लेकिन बाद में मीरा कुमार के नाम पर मुहर लगी.

गोपालकृष्ण गांधी पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रह चुके हैं. वह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पोते हैं. विपक्ष की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, सपा की ओर से नरेश अग्रवाल, बसपा की ओर से सतीश मिश्रा, नेशनल कांफ्रेंस के उमर अब्दुल्ला, जदयू की ओर से शरद यादव मौजूद थे.

महात्‍मा गांधी के सबसे छोटे पौत्र गोपाल गांधी की पारिवारिक जड़ें गुजरात में हैं. इस लिहाज से विपक्ष का मानना है कि उनके उम्‍मीदवार बनने से पीएम मोदी के लिए भी राजनीतिक स्थिति सहज नहीं होगी. गौरतलब है कि नौकरशाह से लेकर राजदूत पद के लंबे अनुभव के धनी गांधी लेखन और बौद्धिक जगत में अपनी खास पहचान रखते हैं. जिनके नाम पर सभी की सहमति बन गयी है अब सभी की नजर भाजपा के उम्मीदवार पर होगी, जिसकी घोषणा जल्द ही होगी.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here