किसान विरोधी है योगी का पहला बजट

लखनऊ। योगी सरकार ने मंगलवार को विधानसभा में अपना पहला बजट पेश किया. बजट पेश करने के बाद सीएम योगी ने इसे गरीब, किसान, महिलाओं, बेरोजगारों को समर्पित बजट करार दिया. लेकिन विपक्षी दलों की राय सीएम योगी राय से अलग रही. उन्होंने इस बजट को किसान विरोधी और निराशाजनक करार दिया.

वहीं बसपा विधानमंडल दल के नेता लालजी वर्मा ने कहा कि योगी सरकार का बजट निराशाजनक रहा. इसमें किसानों की अनदेखी की गई है. बजट पूरी तरह से खोदा पहाड़ निकली चुहिया रहा.

विधानसभा में नेता विपक्ष समाजवादी पार्टी के रामगोविंद चौधरी ने बजट पर कहा कि योगी सरकार का यह बजट किसान विरोधी है. इस बजट से कोई लाभ नहीं मिलेगा. उन्होंने आरोप लगाया कि योगी सरकार ने पूर्व की सपा सरकार द्वारा चलाई गईं कई लाभकारी योजनाओं को बदल दिया है. उन्होंने इस बजट को पूरी तरह से महिला विरोधी करार दिया.

विधानपरिषद में नेता विरोधी दल समाजवादी पार्टी के अहमद हसन ने कहा कि योगी सरकार द्वारा पेश किया गया बजट महज आंकड़ों का पुलिंदा भर है. बीजेपी सरकार आंकड़ों पर खेल रही है. सरकार कानून व्यवस्था पर जवाब नहीं दे पाई है. उन्होंने कहा कि सपा किसानों के मुद्दे सदन में उठाती रहेगी.

उन्होंने कहा कि बजट में किसानों, गरीबों, पिछड़ों की उपेक्षा की गई है. ये बजट महज केंद्र की योजनाएं यूपी में चलाने वाला ही है. बजट में बुंदेलखंड की उपेक्षा की गई. यही नहीं बजट में जितना घाटा लिखा है, उससे ज्यादा का घाटा होगा. उन्होंने कहा कि पूर्वांचल को 200 और बुंदेलखंड को 300 करोड़ रुपए निराशाजनक हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here