बिहार की घटना लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नहींः मायावती

लखनऊ। बिहार की सियासत में जिस तरह से उठापटक सामने आई और नीतीश कुमार ने एनडीए के साथ जाने का फैसला लिया है उसके बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नहीं है. उन्होंने कहा कि बिहार में जो कुछ भी हुआ है वह आए दिन किसी ना किसी राज्य में हो रहा है और यह देश के लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नहीं है.

मायावती ने कहा कि देश का लोकतंत्र इन घटनाओं से कमजोर हो रहा है. उन्होंने आगे कहा कि अब देश की आम जनता को आगे आकर लोकतंत्र को कमजोर होने से बचाना होगा. लोगों को सचेत करते हुए मायावती ने कहा कि अगर लोग आगे आकर लोकतंत्र को नहीं बचाते हैं तो इससे आगे चलकर उनका ही नुकसान होगा नाकि राजनीतिक दलों व राजनेताओं का.

भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोलते हुए मायावती ने आरोप लगाया कि पार्टी सरकार की मशीनरी का दुर्पयोग करके लोगों को डरा-धमका रही है. उन्होंने कहा कि पहले मणिपुर, गोवा और अब बिहार में भी भाजपा ने यही किया है. बिहार में जो कुछ भी कल हुआ है वह इस बात का सबूत है कि मोदी सरकार में लोकतंत्र का भविष्य खतरे में हैं. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने गठबंधन से नाता तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बनाकर सही नहीं किया है. इससे उन्होंने धर्मनिरपेक्ष ताकतों को और प्रचंड बहुमत दे दिया है. जनता ने उन्हें जो जनादेश दिया था उसका सम्मान होना चाहिए था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here