मायावती ने की खट्टर सरकार की बर्खास्तगी की मांग

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने राम रहीम के दोषी करार होने के बाद हुई हिंसा पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने खट्टर सरकार पर भी हमला किया. उन्होंने हरियाणा में भड़की हिंसा का जिम्मेदार खट्टर सरकार को माना और मनोहर लाल खट्टर की बर्खास्तगी की मांग की है.

मायावती ने कहा कि हरियाणा सरकार की लापरवाही और लिप्तता के कारण पंचकूला, सिरसा सहित अन्य राज्यों में हिंसा भड़की. हरियाणा सरकार के इस शर्मनाक प्रदर्शन की जितनी निंदा की जाए कम है.,

मायावती ने 30 लोगों के मारे जाने पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि पूरे हरियाणा में जो हिंसा हुई उसके लिए भाजपा की वोट बैंक राजनीति और मनोहर लाल खट्टर की लापरवाही है. उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के सख्त व स्पष्ट निर्देश के बावजूद कानून व संविधान की जिम्मेंदारी निभाने में विफल रहने वाली ऐसी सरकार को तुरन्त बर्खास्त कर देना चाहिये. लेकिन बड़े दुर्भाग्य की बात है कि केंद्र सरकार के साथ-साथ भाजपा के शीर्ष नेता भी इस प्रकार के गंभीर मामले में गैर-जवाबदेह और लापरवाह बने हुए है.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि इस तरह की हिंसा पहली बार नहीं हुआ है. इससे पहले 6 दिसंबर 1992 में अयोध्या में भी भाजपा ने संविधान की धज्जियां उड़ाई थी. कानून, कोर्ट और संविधान को भाजपा की वोट बैंक की राजनीति को इजाजत नहीं देनी चाहिए. जनहित और देशहित को ध्यान में रखते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here