मामूली विवाद को भाजपा ने जातीय संघर्ष में बदलाः मायावती

मेरठ। बहुजन समाज पार्टी ने मेरठ में विशाल रैली का आयोजन किया. मुख्य अतिथि के तौर पर आई मायावती ने इस रैली को संबोधित किया. मायावती ने आरोप लगाया कि सियासी फायदे के लिए सहारनपुर में जातीय दंगे कराए गए. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सहारनपुर में मामूली विवाद को जातीय संघर्ष में बदल दिया.बहुजन समाज पार्टी ने मेरठ में विशाल रैली का आयोजन किया. मुख्य अतिथि के तौर पर आई मायावती ने इस रैली को संबोधित किया. मायावती ने आरोप लगाया कि सियासी फायदे के लिए सहारनपुर में जातीय दंगे कराए गए. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सहारनपुर में मामूली विवाद को जातीय संघर्ष में बदल दिया.

मायावती ने कहा कि यूपी के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने ईवीएम में गड़बड़ी करके चुनाव जीता है. बसपा कार्यकर्ताओं ने ईवीएम के खिलाफ यूपी के जिला मुख्यालयों पर 11 अप्रैल को धरना प्रदर्शन भी किया. उन्होंने कहा कि ईवीएम के खिलाफ हम सुप्रीम कोर्ट गए, तो भाजपा ने इससे ध्यान हटाने के लिए एक सोची समझी साजिश के तहत सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव में दलित-राजपूत के बीच दंगा कर दिया. मायावती ने कहा कि भाजपा ने दलित मतों में सेध लगाने की मंशा से दंगा कराया है. उन्होंने कहा कि दंगे के बाद दलितों के आंसू पोंछने के नाम पर दलितों के बीच में आकर भाजपा नेता बड़े-बड़े भाषण देंगे और दलितों की सहानुभूति पाएंगे.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सहारनपुर में दलितों का शोषण हुआ. उन्होंने कहा 18 जुलाई को राज्यसभा में उन्हें इस मुद्दे पर सत्ता पक्ष ने बोलने नहीं दिया. यही वजह है कि मैने राज्यसभा सदस्य पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने कहा कि भाजपा ने सहारनपुर में मामूली विवाद को जातीय संघर्ष करा दिया. उन्होंने कहा कि दलितों के साथ-साथ मेरी हत्या भी कर दी जाएगी. मायावती ने कहा इसके बाद भाजपा के लोग फिर आरएसएस से जुड़े रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here