संकल्प भूमि पर बसपा के कार्यक्रम से डरी भाजपा कार्यक्रम फेल करने में जुटी

0
504

बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर के अपमान की बात कह कर चीख रहा यह शख्स एक अम्बेडकरवादी है, जो यह मानता है कि भारत के निर्माण में संविधान निर्माता और देश के पहले कानून मंत्री बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर का योगदान किसी अन्य से कम नहीं है. यह वीडियो गुजरात के वडोदरा की है, जहां 23 सितंबर को बहुजन समाज पार्टी द्वारा संकल्प दिवस के सौ साल पूरा होने के मौके पर विशाल कार्यक्रम आयोजित किया गया है.

असल में सारी दिक्कत यहीं से शुरू होती है. वडोदरा में संकल्प दिवस के दिन देश भर के अम्बेडकरवादियों का जमावड़ा लगता है. देश-विदेश के अम्बेडकरवादी यहां आकर सियाजी पार्क की उस धरती को नमन करते हैं, जहां बाबासाहेब ने उत्पीड़ित और उपेक्षित वर्ग को हजारों साल की गुलामी से मुक्ति दिलाने का संकल्प लिया था. बाबासाहेब ने यह संकल्प 23 सितंबर 1917 को लिया था. 23 सितंबर 2017 को इस सम्यक संकल्प के 100 साल पूरे हो रहे हैं.

बाबासाहेब को अपना आदर्श मानकर राजनीति करने वाली बहुजन समाज पार्टी इस शताब्दी वर्ष पर वडोदरा में एक बड़ा कार्यक्रम कर रही है. इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती हैं. इस मौके पर मायावती वडोदरा के नौलखी ग्राउंड में एक जनसभा को संबोधित करेंगी और फिर सियाजी पार्क जाकर बाबासाहेब को श्रद्धांजली देंगी.

बसपा के इस कार्यक्रम को लेकर भाजपा बौखला गई है. कार्यक्रम को लेकर शहर भर में पोस्टर और होर्डिंग्स लगे थे, जिसे उतार कर फेंक दिया गया. बहुजन समाज पार्टी के पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं और अन्य अम्बेडकरवादियों में इसको लेकर काफी रोष है.

इस बारे में बसपा के गुजरात प्रभारी रामअचल राजभर कहते हैं- “बाबासाहेब के द्वारा दलितों, पीड़ितों और वंचित समाज के कल्याण के लिए वड़ोदरा में 1917 में संकल्प लिया गया था, उसी के 100 साल हो रहे हैं. बसपा के गुजरात इकाई की ओर से शताब्दी वर्ष का कार्यक्रम आयोजित किया गया है. इस समारोह में बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश बहन कुमारी मायावती जी हैं.

भाजपा बसपा के इस कार्यक्रम से बौखला गई है और ओछी राजनीति पर उतर गई है. इस कार्यक्रम के लिए बसपा के बैनर और पोस्टर लगे हैं. हमने प्रशासन से कार्यक्रम की इजाजत भी ली है. बावजूद इसके हमारे बैनर और पोस्टर को हटाया जा रहा है. भाजपा बसपा द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम से डर गई है, मोदी नहीं चाहते कि बहनजी गुजरात आएं. वो बहन कुमारी मायावती के इस कार्यक्रम से डर गए हैं और दिल्ली में बैठकर गुजरात सरकार को निर्देश दे रहे हैं.
गुजरात में बहुजन समाज की एकजुटता से मोदी जी और भाजपा इतना डर गए हैं कि गुजरात में रोड शो करने आ गए.”
राम अचल राजभर
प्रभारी, बसपा गुजरात इकाई

असल में बसपा की रैलियों में जुटने वाली भीड़ रिकार्डतोड़ होती है. संकल्प दिवस के मौके पर वैसे ही देश भर के लोग वडोदरा में रहेंगे. कार्यक्रम में बसपा प्रमुख मायावती का संबोधन देश भर में एक बड़ा मैसेज दे जाएगा. भाजपा की परेशानी यही है. भाजपा इस कार्यक्रम को विफल बनाने में जुट गई है. यही वजह है कि शहर में लगे होर्डिंग्स को हटाकर वह बसपा कार्यकर्ताओं का उत्साह तोड़ने में जुटी है.

अशोक दास

अशोक दास

बुद्ध भूमि बिहार के छपरा जिले का मूलनिवासी हूं।गोपालगंज कॉलेज से राजनीतिक विज्ञान में स्नातक (आनर्स) करने के बाद सन् 2005-06 में देश के सर्वोच्च मीडिया संस्थान ‘भारतीय जनसंचार संस्थान, जेएनयू कैंपस दिल्ली’ (IIMC) से पत्रकारिता में डिप्लोमा। 2006 से मीडिया में सक्रिय। लोकमत, अमर उजाला, भड़ास4मीडिया और देशोन्नति (नागपुर) जैसे प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों में काम किया। पांच साल तक कांग्रेस, भाजपा सहित तमाम राजनीतिक दलों, विभिन्न मंत्रालयों और पार्लियामेंट की रिपोर्टिंग की।
'दलित दस्तक' मासिक पत्रिका के संस्थापक एवं संपादक। मई 2012 से लगातार पत्रिका का प्रकाशन। जून 2017 से दलित दस्तक के वेब चैनल (www.youtube.com/c/dalitdastak) की शुरुआत।
अशोक दास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here