तीन तलाकः मायावती ने किया फैसले का स्वागत, केंद्र से तय समय में कानून बनाने की मांग

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. लेकिन उन्होंने केंद्र सरकार को नसीहत दी है कि बिना कोई संकीर्ण और आरएसएस के एजेंडे की राजनीति किए सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार समय सीमा में ही तीन तलाक पर कानून बनाए.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संविधान पीठ ने 3-2 के बहुमत के फैसले से तीन तलाक को असंवैधानिक करार दिया है. उन्होंने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र सरकार से इस संबंध में छह महीने के भीतर कानून बनाने के लिये कहा है, जिसका समय से अनुपालन किया जाना चाहिये.

मायावती ने कहा कि यह अच्छा होता, यदि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड खुद ही तीन तलाक के मामले में कार्यवाही करता. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का मानना है कि इस बुराई की रोकथाम के लिये जितनी तत्परता से इस पर कार्रवाई की जानी चाहिए थी वह नहीं की गई. इस कारण ही सुप्रीम कोर्ट को इस मुद्द पर हस्तक्षेप करना पड़ा है. इस फैसले का सभी मुस्लिम महिलाओं के हित में स्वागत किया जाना चाहिए.

मायावती ने कहा कि देश में तीन तलाक के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला किया है, उसका बसपा दिल से स्वागत करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here