अंधविश्वासः कर्नाटक में महिलाएं तोड़ रहीं हैं अपना मंगलसूत्र

Representative image

बेंगलुरु। कर्नाटक में एक ऐसी अफवाह उड़ी कि कर्नाटक की शादीशुदा महिलाओं की नींद उड़ गई, उन्हें अपने पतियों पर मौत का खतरा मंडराता महसूस होने लगा. मंगलवार रात को एक मेसेज धड़ाधड़ फैलने लगा कि मंगलसूत्र के मोती बुधवार को उनके पतियों के दुर्भाग्य का कारण बनेंगे. कुछ ही घंटों में अफवाह और तेजी से फैलने लगी और सुबह होते-होते कई महिलाओं को यकीन हो गया कि मंगलसूत्र के मोती न सिर्फ उनके पतियों के लिए दुर्भाग्य लाएंगे, बल्कि उनकी मौत का कारण भी बन सकते हैं.

राज्य के 6 जिलों और आंध्र प्रदेश के कुछ जिलों में महिलाओं ने मोतियों को पत्थरों से कूच-कूचकर दुर्भाग्य दूर करने की कोशिशें शुरू कर दीं. कई महिलाओं ने मंगलसूत्र पहने रखा लेकिन उसके मोतियों को तोड़ अलग कर दिया, तो कुछ ने मंगलसूत्र ही निकाल दिया. स्थानीय टीवी चैनलों ने दिखाया कि कैसे महिलाएं अपने गले से मंगलसूत्र निकालकर उसके मोतियों को अलग किया. कोप्पल, चित्रदुर्ग, बेल्लारी, देवनागरी और रायचुर जिलों में फैली इस अफवाह से हड़कंप-सा मच गया था.

हालात नियंत्रण से बाहर होते देख राज्य सरकार के महिला व बाल कल्याण विभाग ने एक नोटिस जारी कर महिलाओं ने अपील की कि वे अफवाहों पर यकीन न करें. विभाग ने सभी जिलों के डीसीपी से हालात पर नियंत्रण स्थापित करने और लोगों को जागरूक किए जाने की अपील की. अफवाह फैलाने वालों पर सख्ती से कार्रवाई का भी निर्देश दिया गया.

बुद्धिजीवियों ने महिलाओं से इस तरह की बातों को नजरअंदाज करने की अपील की. लाल मूंगा मोती मंगलसूत्र के साथ कई शताब्दियों के लिए अपने सजावटी मूल्यों की वजह से जुड़ा हुआ है, “उनमें से एक ने कहा,” लाल मूंगा और किसी के जीवन के बीच कोई संबंध नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here