किताब का विरोध करने वालो ने कांचा इलैया के खिलाफ दर्ज करवाई FIR

kancha ilaiah

हैदराबाद। दलित लेखक और बुद्धिजीवी कांचा इलैया के खिलाफ हैदराबाद में मामला दर्ज किया गया है. इलैया पर यह मामला उनकी किताब ‘समाजिका स्मगलुरलू कोमातोल्लू’ लिखने पर किया गया है. इलैया ने इस किताब में हिंदू समाज की कुरीतियों और कुप्रथाओं के बारे में लिखा है.

एक छात्र ने आरोप लगाया है कि उनकी पुस्तक ‘समाजिका स्मगलुरलू कोमातोल्लू’ ने न केवल वैश्य समुदाय बल्कि सभी हिंदू समुदायों पर निशाना साधा और इससे हिंदुओं की भावनाएं आहत हुईं.

मलकाजगिरि पुलिस थाने के निरीक्षक जानकी रेड्डी ने कहा कि उन्होंने कहा कि 22 वर्षीय शिकायतकर्ता ने एक स्थानीय अदालत का दरवाजा खटखटाया था और उसके निर्देश के आधार पर पुलिस ने कल इलैया के खिलाफ एक मामला दर्ज किया. उन्होंने कहा कि मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 295ए और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार रोकथाम) कानून के तहत दर्ज किया गया है.

पिछले महीने से पूरे तेलंगाना राज्य में इलैया के खिलाफ आर्य वैश्य समुदाय की ओर से विरोध प्रदर्शन किये जा रहे हैं. कांचा ने पिछले महीने यह आरोप लगाते हुए पुलिस में एक शिकायत दर्ज करायी थी कि चार व्यक्तियों ने वारंगल जिले के पारकल में उनके वाहन पर हमला किया और उनकी हत्या करने का प्रयास किया.

कथित हमले से आर्य वैश्य और दलितों के बीच तनाव उत्पन्न हो गया था और वे आमने-सामने आ गए थे. यद्यपि पुलिस ने समूहों को तितर-बितर कर दिया था जिससे मामले पर काबू पा लिया गया था. एक अधिकारी ने कहा था कि समुदाय इलैया पर उनकी पुस्तक को लेकर नाराज है और लेखक से माफी की मांग कर रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here