‘जातिवादी राम ने दलित ऋषि की हत्या की, गर्भवती पत्नी को जंगल भेजा’

Shambuk yatra

बेंगलुरू। वारंगल में कांचा इलैया पर हमला होने के बाद, अब कन्नड़ के मशहूर लेखक हिंदूवादियों के निशाने पर है. कन्नड़ लेखक केएस भगवान ने कर्नाटक पुलिस से सुरक्षा की मांग की है.

दरअसल, केएस भगवान ने एक पब्लिक स्पीच में भगवान राम पर टिप्पणी की है. केएस भगवान ने कहा है राम कोई भगवान नहीं थे. वो सिर्फ एक इंसान थे जिनमें खूबियां थी. उन्होंने कहा कि राम ने सिर्फ 11 साल राज किया. जिसमें उन्होंने अपनी गर्भवती पत्नी को जंगल भेज दिया और दूसरा ब्राह्मण के कहने पर दलित शम्बुक की हत्या कर दी.

केएस भगवान ने राम को जातिवादी बताया. उन्होंने कहा कि राम ब्राह्मणों की पूजा करते थे. राम ने दलित की हत्या की थी. इसके बाद उन्होंने कहा कि गीता में जातिवाद की बात कही गई है. इसके बाद उन्होंने शंकराचार्य पर भी टिप्पणी की. इसके बाद उन्होंने राम मंदिर बनाए जाने की मांग पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि ये लोगों को खुद सोचना चाहिए.

केएस भगवान ने कर्नाटक सरकार से सुरक्षा की मांग की है. के एस भगवान हिन्दू धर्म पर लिखते रहते हैं. वे अनुवादक और तर्कवादी माने जाते हैं. पुलिस उन पर पहले भी धार्मिक भावनाएं भड़काने का केस दर्ज कर चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here