क्या इस युवा चेहरे में बहनजी अपना उत्तराधिकारी तलाश रही हैं?

बहुजन समाज पार्टी की हालिया बैठकों में मौजूद एक खास चेहरा इन दिनों चर्चा का विषय है. वह बैठक शुरू होने के समय पहुंचता है और बैठक खत्म होते ही दूसरे नेताओं के निकलने से पहले निकल जाता है. चार अगस्त को भी बसपा की बैठक में मौजूद वो चेहरा दलित दस्तक के कैमरे में कैद हो गया. तो क्या बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने पार्टी का युवा चेहरा ढूंढ़ लिया है? और क्या बैठकों के दौरान उस युवा को अपने साथ रखकर वह उसे राजनीति की बारीकियां सिखा रही हैं?

उस युवा चेहरे का नाम आकाश है. आकाश पहली बार तब चर्चा में आए थे, जब बसपा प्रमुख मायावती सहारनपुर के दौरे पर गई थीं. उस दौरे में आकाश पूरे समय अपनी बुआ मायावती के साथ मौजूद थे. असल में आकाश पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और बसपा प्रमुख मायावती के छोटे भाई आनंद कुमार के बेटे हैं. पिछले कुछ समय से वह पार्टी की गतिविधियों में रुचि दिखा रहे हैं.

खबर से संबंधित वीडियो देखने कि लिए यहां क्लिक करें

बसपा अध्यक्ष मायावती ने जिस दिन आनंद कुमार को पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया था, खबर है कि उसी दिन आकाश ने भी पार्टी की सदस्यता ली थी. सूचना के मुताबिक आकाश पार्टी में एक्टिव मेंबर हैं. दलित दस्तक के पास मौजूद सूचना के मुताबित आकाश तकरीबन तीन साल लंडन में पढ़ाई करने के बाद 2016 में भारत लौटे हैं. लंडन में उन्होंने बी.बी.ए और एम.बी.ए की डिग्री ली है.

तो क्या बसपा प्रमुख मायावती ने समय का रुख भांप लिया है कि देश में आधी से ज्यादा आबादी युवाओं की है और आने वाले वक्त में बहुजन समाज पार्टी को भी सफल होने के लिए एक युवा चेहरे की जरूरत है. एक सवाल यह भी है कि क्या बहनजी आकाश में अपना उत्तराधिकारी होने की संभावना ढूंढ़ रही हैं??

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here