अर्णव शर्मा बनें आईक्यू टेस्ट में नंबर वन, आइंस्टीन और हॉकिंग को छोड़ा पीछा

Arnav Sharma

लंदन। ब्रिटेन में 11 साल के भारतीय मूल के बच्‍चे ने मेन्सा आईक्यू टेस्ट में सर्वाधिक यानि 162 अंक प्राप्त किए हैं. विशेष बात यह है कि इस बच्चे ने महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग से भी दो अंक ज्‍यादा हासिल किए हैं.

दक्षिण इंग्लैंड में रीडिंग टाउन के अर्णव शर्मा ने बिना किसी खास तैयारी के ये कारनामा कर दिखाया है. उसने इससे पहले कभी ये टेस्ट नहीं दिया था.

द इंडिपेंडेंट की खबर के अनुसार टेस्ट में उसके अंकों ने उसे आईक्यू स्तर पर देश में अव्वल स्थान पर ला दिया है. इस पर अर्णव शर्मा का कहना है कि , ‘मेन्सा टेस्ट मुश्किल होता है और हर कोई इसे पास नहीं कर पाता. मुझे तो इसे पास करने की उम्मीद ही नहीं थी. मैंने ये टेस्ट दिया और इसमें करीब ढाई घंटे लगे. मैंने टेस्ट के लिए कोई तैयारी भी नहीं की थी लेकिन मैं घबरा नहीं रहा था. मेरा परिवार हैरान था, लेकिन वे बहुत खुश हुए जब मैंने उन्हें परिणाम के बारे में बताया’.

इस मौके पर अर्णव की मां मीशा धमिजा शर्मा ने कहा, ‘मैं सोच रही थी कि क्या चल रहा होगा क्योंकि उसने कभी देखा नहीं था कि यह पेपर कैसा होता है’.

अर्णव की मां ने ये भी बताया कि वो जब ढाई साल का था तो ही मैथ्स का कौशल उसमें दिखने लगा था. गौरतलब है कि अर्णव को गाने और डांस करने का भी शौक है.

बता दें कि मेन्सा को दुनिया की सबसे बड़ी और पुरानी उच्च आईक्यू सोसायटी माना जाता है. वैज्ञानिक एवं वकील लांसलॉट लियोनेल वेयर और ऑस्ट्रेलियाई बैरिस्टर रोलैंड बेरिल ने 1946 में ऑक्सफोर्ड में इसकी स्थापना की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here