पांच बार गोल्ड जीतने वाली दलित महिला खिलाड़ी का सीएम ने किया अपमान

Bhivani

भिवानी। भारतीय जनता पार्टी इस बार सत्ता में आने से पहले दलितों और पिछड़ों की हितैषी बनीं वोट मांग रही थी. लेकिन सत्ता में आने के बाद भाजपा दलितों को प्रताड़ित कर रही है. चाहे वो उत्तर प्रदेश हो या राजस्थान, या फिर मध्यप्रदेश. दलितों के साथ भाजपा शासित राज्य में सबसे ज्यादा हो रहा है. अब हरियाणा के मुख्यमंत्री एक दलित महिला खिलाड़ी का अपमान किया है. जिसके बाद राज्य के मुख्यमंत्री और भाजपा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है.

दरअसल, भिवानी में 7 अक्टूबर को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के एक प्रोग्राम में दलित महिला खिलाड़ी प्रियंका नौकरी की मांग लेकर गई थी. महिला खिलाड़ी की सीएम से मुलाकात तो दूर पुलिस ने उसे धक्के देकर भगा दिया था. उस समय बेइज्जती सहन करनी पड़ी थी. रोती बिलखती खिलाड़ी को देख वहां मौजूद कुछ लोगों ने पुलिस व सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरु कर दी थी.

पंजाब केसरी के मुताबिक बावड़ी गेट की रहने वाली प्रिंयका कराटे की खिलाड़ी हैं. प्रिंयका पांच बार अंतराष्ट्रीय स्तर पर कराटे में गोल्ड मैडल जीत चुकी हैं. वह बेहद गरीब परिवार से है. घर की आर्थिक जिम्मेदारी भी उसके सिर है. ऐसे में वह सरकार से नौकरी की गुहार लगा रही थी लेकिन पुलिस ने उसकी सीएम से मुलाकात नहीं होने दी. बल्कि उसे धक्का देकर अपमानित किया.

यह मामला विपक्ष के नेताओं ने भी उठाया था पर इस खिलाड़ी के परिवार की किसी ने नहीं सुनी. आज महिला खिलाड़ी के परिवार के साथ दलित समाज ने प्रदर्शन कर सरकार से उसके सम्मान की आवाज उठाई है. उन्होंने कहा कि दलितों पर अन्याय सहन नहीं होगा. महिला खिलाड़ी के अपमान को लेकर दलित समाज के लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here