गौतम के गंभीर सवाल, ‘आजादी के 70 साल बाद भूख जरूरी या मंदिर-मस्जिद’

देश इस समय स्वतंत्रता दिवस की 70वीं सालगिरह मनाने की तैयारी कर रहा है. इस मौके पर मंगलवार को इंडियन प्लेयर गौतम गंभीर ने एक तस्वीर ट्वीट की, जो कि कई सवाल खड़े करती है. इस तस्वीर में एक भूखा बच्चा दिख रहा है और फोटो पर कैप्शन है कि हम तेरे लिए कुछ नहीं कर सकते दोस्त, हमें अभी मंदिर और मस्जिद बनाने हैं. गंभीर ने लिखा कि अभी भी मैं इस सवाल का जवाब तलाश रहा हूं. गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है कि गौतम ने इस प्रकार का ट्वीट किया हो. इससे पहले गंभीर छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने की भी बात कही थी. इसके अलावा आईपीएल के दौरान उन्हें मैन ऑफ द मैच की राशि भी उनके सहयोग के लिए दी थी.

लंदन के ओवल में खेले गए चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में इंडिया की हार पर जश्न मनाने वाले अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक को क्रिकेटर गौतम गंभीर ने एक सलाह दी थी. इंडिया की हार पर कश्मीर घाटी में हुई आतिशबाजी में मीरवाइज के शामिल होने की तस्वीर सामने आने और पाकिस्तान को बधाई वाले ट्वीट के बाद क्रिकेटर गौतम गंभीर ने ट्वीट कर मीरवाइज पर निशाना साधा था. गंभीर ने लिखा एक सलाह है मीरवाइज तुम बॉर्डर क्यों नहीं पार कर जाते. वहां तुम्हें बढिय़ा पटाखे चाइनीज मिलते. वहीं ईद मनाते. सामान बांधने में मैं तुम्हारी मदद कर सकता हूं. गौतम गंभीर देश में चल रही समस्‍याओं पर अक्‍सर सवालिया निशान खड़ा कर देते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here