लखनऊ में खुला पहला ‘फूड एटीएम’, रोज मुफ्त मिलेगा खाना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखनऊ में ‘फूड एटीएम’ नाम की शानदार पहल शुरू हुई है. यह एटीएम आम जनता के लिए फ्री में खाना उपलब्ध कराऐगा. इसकी शुरूआत लखनऊ के गोमतीनगर क्षेत्र में रिट्ज् रेस्तरां के पास से की गयी है. इस एटीएम से कोई भी फ्री में खाना ले सकता है और कोई भी खाना दे सकता है. शहर की संस्था ‘राउंड टेबल इंडिया’ की ओर से बचे खाने को जरूरतमंदों को देने के लिए इसकी शुरुआत की गई है.

एक सप्ताह से ट्रायल के तौर पर चल रहे इस फूड एटीएम से रोजाना 30-40 लोग भूख मिटा रहे हैं. इस एटीएम को गुरुवार को स्थायी तौर पर खोल दिया गया. संस्था की योजना अगले एक महीने में 15 और ऐसे फूड एटीएम शुरू करने की है. इसके लिए कुछ और होटल और रेस्तरां से बात चल रही है.

फीडिंग लखनऊ कैंपेन चला रहे ‘राउंड टेबल इंडिया’ लखनऊ चैप्टर के कोषाध्यक्ष पीयूष अग्रवाल ने बताया की कई बार बड़े आयोजनों में बचे खाने की बर्बादी को देखकर मन में कुछ नया करने का विचार आया. हमने रिट्ज प्रबंधन से इस बारे में बात की तो वे हमारे प्रस्ताव पर राजी हो गए. गोमतीनगर स्थित रेस्त्ररां पर ट्रायल के लिए फूड एटीएम लगाया गया. जिसके ट्रांसपैरंट फ्रीजर में रेस्तरां का बचा खाना पैक करके रखा जायेगा. जल्द ही दूसरा एटीएम भी महानगर में लगाया जाएगा. इसमें रखे ट्रांसपैरंट पैकेटों पर एक्सपायरी डेट भी होगी.
गौरतलब है की यह योजना सभी के लिए है इसलिए इसमें सभी का सहयोग बेहद जरूरी है इसके लिए कोई भी सहयोग कर सकता हैं.

सहयोग ‘राउंड टेबल इंडिया’ लखनऊ चैप्टर के कोषाध्यक्ष पीयूष अग्रवाल ने बताया कि इस अभियान में कोई भी शामिल हो सकता है. इस फूड एटीएम के पास 24 घंटे एक सुरक्षाकर्मी तैनात रहेगा. मदद के इच्छुक लोग उसे बचा खाना दे सकते हैं. इस बात का खास ध्यान रखा जाए कि यह खाना बचा हुआ हो, न कि जूठा. रेस्तरां के किचेन में चेक किए जाने के बाद इसे एटीएम में रख दिया जाएगा. यही सुरक्षाकर्मी जरूरतमंदों को खाना भी देगा.

बता दें की विश्व खाद्य संगठन की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया का हर सातवां व्यक्ति भूखा सोता है. विश्व भूख सूचकांक में भारत का 67वां स्थान है. देश में हर साल 25.1 करोड़ टन अनाज का उत्पादन होता है लेकिन हर चौथा भारतीय भूखा सोता है. ऐसे में आम लोगों द्वारा यह पहल बेहद सराहनीय है जिसका रिजल्ट सकारात्मक रहा तो इससे अन्य शहर और राज्य भी जरूर जुड़ेगें.

इस खबर का संपादन नागमणि कुमार शर्मा ने किया है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here