सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान चार दलितों की मौत

नई दिल्ली। एकतरफ सरकार देश में सफाई अभियान के नाम पर जगह जगह आयोजन कराती है, तरह तरह के वादे करती रहती है तो वहीं सेप्टिक टैंको में मौतें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. ताजा घटना दक्षिणी दिल्ली के घिटोरनी इलाके की है जहां सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान जहरीली गैस से दम घुटने के कारण चार सफाई कर्मचारियों की मौत हो गयी. इस मामले में ‘लापरवाही’ को लेकर दो व्यक्तियों को आज गिरफ्तार भी किया गया.

बता दें की यह घटना कल एक निर्माणाधीन इमारत में हुई. जानकारी देते हुए एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि निरंजन सिंह (42) और रिधिपाल (47) नामक दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. निरंजन संबंधित इमारत का सुपरवाइजर है. टैंक की सफाई के दौरान स्वर्ण सिंह , दीपू, अनिल और बलविंदर नामक चार सफाई कर्मचारियों की की मौत हो गई थी.

सफाई के लिए सुपरवाइजर के आदेशानुसार चारो लोग एक हार्वेस्टिंग टैंक की सफाई के दौरान नीचे गये जिसमें दम घुटने से चार सफाई कर्मचारियों की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि ये कर्मचारी इलाके में टैंक की सफाई करने के लिए नीचे उतरे, लेकिन काफी देर तक बाहर नहीं निकले. टैंक के भीतर वे सभी जहरीली गैस की चपेट में आ गए जहां दम घुटने से सभी की मौत हो गयी.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here