भारत में पहली बार नाटक ओलंपिक का आयोजन

नई दिल्ली। जिस प्रकार खेलों में भारत अपनी मेजबानी को लेकर अपना सिक्का जमाता रहा है उसी तरह भारत अब थियेटर में भी छाप छोड़ने को तैयार है. विश्व रंगमंच के सबसे लोकप्रिय उत्सव थियेटर ओलंपिक की मेजबानी इस वर्ष भारत द्वारा की जायेगी. यह विश्व का आठवां थिएटर ओलंपिक होगा जिसका उद्धाटन दिल्ली में किया जायेगा. भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) में 17 फरवरी 2018 को इसका शुभारंभ होगा.

पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री महेश शर्मा ने बुधवार को राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान इसकी घोषणा की. संस्कृति मंत्री ने कहा कि किसी शहर या समाज की पहचान पत्थर की दीवारें नहीं बल्कि वहां की संस्कृति और विरासत है. हम विश्व पटल पर करोड़ों डॉलर के खजाने की नहीं बल्कि अपनी संस्कृति की करते हैं. प्रधानमंत्री का सपना है कि भारत का पर्यटन संस्कृति किस तरह से भारत को नई ऊंचाइयों तक ले जाए.

तीन साल पहले आठवें थियेटर ओलंपिक के लिए आवेदन किया गया था जिसे स्वीकार कर लिया गया है जिसके लिए सरकार पूरी तरह तैयार है. इसे हम अन्य शहरों और गांवों तक ले जाएंगे. सरकार ने कल्चरल मैपिंग आफ इंडिया शुरू की है. इसके तहत देश के 6 लाख 20 हजार गावों के कलाकारों का डेटा सरकार के पास होगा. हमें उम्मीद है कि दिल्ली में इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री करेंगे और इसका समापन मुंबई में राष्ट्रपति करेंगे.

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय सोसाइटी के चेयरमैन रतन थियम ने कहा कि इस ओलंपिक का सूत्र वाक्य मित्रता का ध्वज होगा. नाटक के पहले प्रयोग से ही मित्र एवं ध्वज का अद्भुत संयोग है. बता दें की इस ओलंपिक में चीन, जापान, रूस, तुर्की, दक्षिण कोरिया सहित तमाम देश इसमें हिस्सा ले रहे हैं. यह थिएटर ओलंपिक 17 फरवरी से 8 अप्रैल तक होगा.

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here