5वीं क्लास के छात्र ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में मैडम को बताया जिम्मेदार

गोरखपुर। प्राइवेट स्कूलों में भारी अनियमितताओं की सजा स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों और उनके माता-पिता को भुगतनी पड़ रही है. हाल ही में गुरूग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई बच्चे की हत्या के बाद अब गोरखपुर के कोन्वेंट स्कूल से एक बच्चे की मौत की घटना सामने आई है.

गोरखपुर के सेंट एंथोनी कोन्वेंट स्कूल में पांचवी क्लास के 12 साल के बच्चे नवनीत ने आत्महत्या कर ली. आत्महत्या का कारण कोई और नहीं बल्कि उनकी क्लास टीचर बनी. छात्र ने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा, जिसमें उसने अपनी मैडम को मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है. उसने सुसाइड नोट के माध्यम से अपने मम्मी-पापा से कहा कि कि मेरी मैम से कहना ऐसी सजा किसी और को न दे.

सुसाइड नोट में नवनीत ने लिखा-

‘’पापा, आज 15 सितंबर मेरा पहला एग्जाम था. मेरी मैम क्लास टीचर ने मुझे सवा 9.15 तक रुलाया और खड़ा रखा, इसलिए क्योंकि वह चापलूसों की बात मानती हैं. उनकी किसी बात का विश्वास मत करिएगा. कल उन्होंने मुझे तीन पीरियड खड़ा रखा. आज मैंने सोच लिया है कि मैं मरने वाला हूं. मेरी आखिरी इच्छा मेरी मैम को किसी बच्चे को इतनी बड़ी सजा न देने को कहें.

अलविदा पापा-मम्पी और दीदी.’’

ऊपर लिखी लाइनें छात्र की सुसाइड नोट की हैं. उसने 15 सितंबर को जहर खाकर जान देने की कोशिश की. पता लगने पर छात्र को बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जहां बुधवार को उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई.

सुसाइट नोट मिलने पर गुस्साएं परिजनों ने स्‍कूल के खिलाफ विरोध जताया. मामला बिगड़ता देख स्कूल के प्रिंसिपल ने 100 नंबर पर सूचना देकर पुलिस बुला ली. छात्र के पिता ने स्कूल प्रबंधन और क्लास टीचर के खिलाफ तहरीर दी है. पुलिस ने बताया कि परिजनों की तरफ से लगाए गए आरोपों के आधार पर मामले की जांच की जा रही है. दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here