नपुंसक नहीं है फलाहारी बाबा

अलवर। अलवर में महिला के यौन शोषण के आरोप में फालाहारी बाबा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार फलाहारी बाबा की जेल में पहली रात बेचैनी से गुजरी.

छत्तीसगढ़ की युवती से रेप का आरोपी कौशलेंद्र फलाहारी बाबा नपुंसक नहीं है. मेडिकल टेस्ट में ये बात साबित होने के बाद पुलिस ने उस पर रेप की धाराओं में मुकदमा दर्ज करने की तैयारी शुरू कर दी है. शनिवार को छत्तीसगढ़ पुलिस ने फलाहारी बाबा को गिरफ्तार किया था. रेप के आरोप पर बाबा ने कहा था कि वो तो नपुंसक है, ऐसे में रेप कैसे कर सकता है. जिसके बाद पुलिस ने मेडिकल टेस्ट कराया को उसके खुद को नपुंसक कहने की बात गलत साबित हुई.

गौरतलब है कि पुलिस के मुताबिक, लड़की के परिवार के बाबा से करीब 25 साल पुराने फैमिली रिलेशन हैं. लड़की ने पिछले दिनों लॉ की पढ़ाई के बाद इंटर्नशिप पूरा किया. इसके लिए उसे 5 हजार रुपए मिले. वह पैसे मिलने को लेकर काफी खुश थी और 7 अगस्त को बाबा के अलवर आश्रम पर पहुंची थी.

अपने बयान में रेप पीड़िता ने बताया कि वह 7 अगस्त को बाबा के दिव्य धाम आश्रम में गई थी. यहां उसे बाबा की सेवा के बदले पहले वेतन का ऑफर दिया गया. साथ ही उसे रातभर रुकने के लिए कहा गया. इसी दौरान शाम 7 बजे उसे बाबा ने अपने कमरे में बुलाया और उसके साथ रेप किया. बाबा ने यहां मौजूद लोगों को आरती में शामिल होने के लिए भेज दिया. फिर उसने गेट बंद कर दिया और लड़की के साथ अश्लील बातें करते हुए छेड़छाड़ करने लगा. इसके बाद उसके साथ रेप किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here