निकाय चुनाव खत्म होते ही यूपी में बढ़े बिजली के दाम

electricity

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सत्ता में आते ही जनता को 24 घंटे बिजली देने का वादा करने वाली योगी सरकारने बड़ा झटका दिया है. निकाय चुनाव खत्म होते ही राज्य विद्युत नियामक आयोग ने बिजली की दरों में बढ़ोत्तरी का ऐलान किया है.

नई कीमतों के मुताबिक पहली 100 यूनिटों के लिए 3 रुपये और इसके बाद 4.50 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिल आएगा. उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने वर्ष 2017-18 के लिए ग्रामीण अनमीटर्ड कनेक्शन का मासिक बिल 180 से बढ़ाकर 31 मार्च 2018 तक 300 रुपये और उसके बाद 400 रुपये किया गया है. आयोग ने ग्रामीण घरेलू बिजली दरों में 63 फीसद, शहरी घरेलू में 8.49 फीसद, कॉमर्शियल में 9.89 और ऑफिसेस की बिजली दरों में 13.46 फीसद की वृद्धि की है.

पहले से ही महंगाई की मार झेल रही यूपी की जनता के लिए बिजली का यह ‘करंट’ काफी सताने वाला साबित हो सकता है क्योंकि इससे कई चीजों के दाम भी ऊपर जा सकते हैं. वहीं राज्य सरकार के ऐलान के बाद भी कई जिलों में बिजली की हालत जस की तस बनी हुई है.

अगले सप्ताह से बिजली महंगी हो जाएगी. उद्योगों को छोड़ गांव से लेकर शहरवासियों को महंगी बिजली का तगड़ा झटका लग गया. गुरुवार को उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग टैरिफ आर्डर जारी कर दिया. नगरीय निकाय चुनाव में जनता की नाराजगी से बचने के लिए राज्य सरकार के इशारे पर अब तक टैरिफ आर्डर न जारी करने वाले नियामक आयोग ने गुरुवार को चालू वित्तीय वर्ष के लिए बिजली की दरें घोषित कर दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here