शिक्षा और स्वास्थ्य पर गुजरात में बोले राहुल

छोटा उदयपुर/गुजरात। कांग्रेस के उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को भाजपा सरकार पर हमला करते हुए कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य सरकार की जिम्मेदारी है. इसमें लगाए गए बजट में लाभ हानि नहीं देखा जाता परंतु भाजपा इस खर्चे को बोझ समझती है. उसने गुजरात में 12000 स्कूल बंद कर दिए. भाजपा सरकार शिक्षा व स्‍वास्‍थ्‍य विभाग को धन कमाने का जरिया बनाना चाहती है. यह देशहित मेें कतई नहीं हो सकता.

राहुल गांधी आदिवासी छात्रों से बात कर रहे थे. इस क्रम में जब एक छात्र ने आधारभूत सुविधाओं की कमी और सरकारी स्‍कूलों में शिक्षकों की कमी का मुद्दा उठाया तब राहुल ने कहा, ‘शिक्षा और स्‍वास्‍थय विभाग धन कमाने का जरिया बन गया है. जब कांग्रेस की सरकार आएगी तब यह बदल जाएगा.‘ उन्‍होंने आगे कहा, शिक्षा व्‍यवस्‍था का लक्ष्‍य शिक्षित करना होना चाहिए न कि धन कमाना. गुजरात में करीब 12000 स्‍कूल बंद हो गए हैं जो संभवत: किसी और राज्‍य में नहीं हुआ है.

गुजरात में अंतिम कांग्रेस सरकार छाबिलदास मेहता 17 फरवरी 1994 से 13 मार्च 1995 तक रही. उन्‍होंने भाजपा सरकार पर शिक्षा के क्षेत्र में आवश्‍यक खर्च न करने का आरोप लगाया. राहुल ने कहा, ‘शिक्षा सबके लिए होनी चाहिए और इसलिए शिक्षा विभाग में सरकारी निवेश आवश्‍यक है. और यह काम कांग्रेस करेगी.‘ जब एक छात्र ने बिजली की कमी का मुद्दा उठाया तब राहुल ने कहा, ‘आप गलत व्‍यक्‍ति से पूछ रहे हैं, यह सवाल प्रधानमंत्री और गुजरात के मुख्‍यमंत्री से करना चाहिए.‘ कांग्रेस नेता राहुल ने कहा कि ऐसी सोच है कि आदिवासी देश को कुछ नहीं दे सकते लेकिन यह पूरी तरह गलत है. वे काफी कुछ सीखा सकते हैं जैसे रहने का ढंग और पर्यावरण संरक्षण आदि.‘

महिला सुरक्षा पर सवाल के जवाब में राहुल ने गुजरात सरकार का मजाक उड़ाते हुए कहा, ‘आपकी सरकार की मार्केटिंग में कहा जा रहा है छात्रों समेत सब खुश है और यहां कमियां ही कमियां दिख रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here