मिड डे मील बनाने वाली दलित महिला ने कहा, गांव गई तो मार देंगे ऊंची जाति के लोग

सागर। मध्यप्रदेश के सागर जिले में मानवता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है. एक दलित महिला को उच्च जाति के लोगों ने बेरहमी से पीट डाला, महिला का कसूर सिर्फ इतना था कि वो दलित समुदाय की है और स्कूल में मध्यांन भोजन बनाती है. जोकि उच्च जाति के लोगों को पसंद नहीं. पीड़ित महिला ने इसकी शिकायत थाने में की तो उच्च जाति के लोगों ने एक बार फिर उसके साथ मारपीट कर दी. पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाई है जिसके बाद एसपी ने मामले में कार्रवाई के निर्देश दिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, जिला मुख्यालय से 42 किलोमीटर दूर स्थित राहतगढ़ थाना के गुमरिया गांव में पीड़ित रामवती अहिरवार की इसी गांव के उच्च जाति के लोगों ने बेरहमी से पिटाई कर दी. महिला का कसूर सिर्फ इतना था कि वो मिड डे मील का खाना बनाने स्कूल जाती थी. इसलिए छुआछूत के चलते उच्च जाति के लोगों ने पहले पीड़ित को खाना बनाने से रोका.

जब महिला ने उनकी बात की अनसुनी की तो राकेश यादव, ह्रदेश यादव, अखिलेश यादव और रीना यादव ने उसके साथ मारपीट किया. पीड़िता ने इस बात की शिकायत राहतगढ़ थाने में दर्ज करवाई, तो आरोपियों ने महिला को फिर बेरहमी से मारा-पीटा और गांव से निकल जाने का फरमान सुना दिया.

डरी सहमी पीड़िता दो दिन से अपने पति के साथ अपने बच्चों को छोड़कर सागर में है, उसका कहना है कि अगर वह गांव गई तो आरोपी उसे जान से मार देंगे. उसने इस मामले की शिकायत एसपी से कर न्याय की गुहार लगाई है. फिलहाल एसपी सचिन अतुलकर ने स्थानीय थाने को निर्देश दिया है कि वह आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here