शौचालय बनाने जा रहे दलितों को जातिवादी गुंडों ने पीटा

Representative Image

गोंडा। एक तरफ मोदी सरकार स्वच्छ भारत और निर्मल भारत अभियान चला रहे हैं, वहीं दूसरी उच्च जाति के लोग दलित परिवार को शौचालय बनाने के लिए पीटते हैं. घटना है यूपी के गोंडा की. जहां योगी आदित्यनाथ की नेतृत्व में भाजपा की सरकार है. गोंडा के तेंदुवा कला कोतवाली क्षेत्र के दतौली गांव में शनिवार (24 जून 2017) को शौचालय का गड्ढा खोदने से नाराज जातिवादी गुंडों ने एक दलित बाप बेटे को पीटकर मरणासन्न कर दिया. दोनों को गंभीर हालत में इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है. इस मामले में पीड़ित ने तीन लोगों के खिलाफ मारपीट व दलित उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज कराई है.

दतौली गांव के रहने वाले दलित नन्हें के मुताबिक शौचालय निर्माण के लिए वह शनिवार को अपने घर के पास पड़ी जमीन पर गड्ढा खोद रहा था. इसी बीच गांव के ही रहने वाले लाल सिंह, फुलरु सिंह व बहादुर सिंह लाठी डंडा लेकर आ धमके और उसे गड्ढा खोदने से मना करने लगे. जब उसने इसका विरोध किया तो तीनों ने उस पर हमला कर दिया और लाठी डंडों से उसे जमकर पीटा. नन्हें की चीख सुनकर उसके पिता बुधई मौके पर पहुंच गए. नाराज जातिवादियों ने बुजुर्ग बधई को भी नही बक्शा और उसे भी पीटना शुरू कर दिया. हमलावर दोनों को मरणासन्न होने तक पीटते रहे.

जातिवादियों के तेवर देखकर गांव का कोई भी बाप-बेटों को बचाने की हिम्मत नहीं जुटा सका. पिटाई के बाद जातिवादी गुंडें आराम से अपने घर चले गए. उनके जाने के बाद लोगों ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीर रुप से घायल बुधई व नन्हे को मनकापुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया जहां उनका इलाज किया जा रहा है.

इस मामले में नन्हे लाल सिंह, फुलरु सिंह व बहादुर सिंह के खिलाफ मारपीट, धमकी व दलित उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज कराई गई. कोतवाल दद्दन सिंह ने बताया कि तीनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है.

 नागमणि कुमार शर्मा की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here